जब राजकोट में चिदंबरम ने कहा-विकास गांडो थई गयो…

राजकोट में संवाद कार्यक्रम के लिए पहुंचे पूर्व वित्तमंत्री पी.चिदम्बरम ने राजकोट के छोटे व्यापारियों और व्यापारी एसोसिएशन के सदस्यों के सवालों के जवाब दिए.

पी. चिदम्बरम अंग्रेज़ी में लोगों के साथ बातचीत कर रहे थे, तब ही अचानक गुजरात में बोले कि ‘विकास गांडो थई गयो छे’, इस पर पूरे हॉल में हंसी फूट पड़ी.

इस संवाद कार्यक्रम में चिदम्बरम ने अहमद पटेल के अस्पताल से जुड़े आतंकी के मामले में कहा, ‘अहमद पटेल ने 2015 में ही अस्पताल से अपना इस्तीफ़ा दे दिया था.

पकड़ा गया शख्स लैब टेक्नीश‍ियन है. एक लैब टेक्नीश‍ियन के लिए पूर्व ट्रस्टी को कैसे जिम्मेदार बताया जा रहा है.’

गुजरात के साथ पूरे भारत में जीएसटी को लेकर उद्योगपति, व्यापारी और दूसरे लोग काफी खफा दिख रहे हैं. जीएसटी को लोग समझ नहीं पा रहे है. जीएसटी की प्रक्रिया काफी जटिल है.

सीए और सरकारी अफसर भी जीएसटी का फॉर्म भरने में दिक्कत का अनुभव कर रहे है. पी चिदम्बरम के साथ बात कर रहे लोगों ने जीएसटी, नोटबंदी, लघु उद्योग, छोटे बड़े व्यापार को लेकर बहुत सारे सवाल के जवाब दिए. चिंदम्बरम ने कहा कि जीएसटी बुरा नही है, लेकिन जीएसटी के लिये जो नियम बनाए गए हैं, उसे लोग परेशान हैं.

नोटबंदी का भी ज़िक्र करते हुए चिदम्बरम ने कहा, ‘ अगर मुझे अगर प्रधानमंत्री ने ये करने के लिए कहा होता तो मैं बतौर वित्तमंत्री अपना इस्तीफ़ा दे देता, लेकिन नोटबंदी कभी नही करता. साथ ही बुलेट ट्रेन पर कहा कि देश में प्राथमिक सुविधा कि ज़रूरत है न कि बुलेट ट्रेन की.

advt

Back to top button