जब छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव ने पहली बार ली प्रदेश के सभी कलेक्टरों की बैठक

सीमावर्ती इलाकों में चेक पोस्ट और कड़ी निगरानी का दिया निर्देश

रायपुर:धान खऱीदी और किसानी को लेकर राजधानी रायपुर के न्यू शर्किट हॉउस में प्रदेश के सभी कलेक्टरों की बैठक ली गई. यह बैठक छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव आरपी मंडल के नेतृत्व में पहली बार ली गई. बैठक में सबसे पहले अहम मसला धान खऱीदी और किसानी को लेकर ही रहा.

मुख्य सचिव ने कहा कि धान खरीदी शुरू होने के साथ ही रोज धान खरीदी केन्द्रों का सत्यापन किया जाएगा. साथ ही कलेक्टरों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि धान खरीदी की प्रक्रिया पारदर्शी और प्रभावी होनी चाहिए. साथ ही धान के अवैध परिवहन पर भी निगरानी रखें और कड़ी कार्रवाई की जाए.

उन्होंने कहा है कि सीमावर्ती इलाकों में चेक पोस्ट लगाया जाए और कड़ी निगरानी की जाए. कोचियो और बिचोलियों के खिलाफ लगातार करवाई की जाए. पूरे देश में छत्तीसगढ़ एकमात्र राज्य है जो 2500 प्रति क्विंटल में धान की खरीदी कर रहा है.

इसका फायदा राज्य के किसानों को ही मिले इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए. मुख्य सचिव आरपी मंडल ने बरसात के बाद सड़कों की मरम्मत के निर्देश दिए हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि शहरों की साफ़ सफ़ाई पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए.

इसके साथ ही लोक सेवा अधिनियम अंतर्गत प्रकरण निराकरण की समीक्षा की गई. साथ ही संभागीय आयुक्त को निरंतर मॉनिटरिंग के निर्देश मुख्य सचिव ने दिए हैं.

मुख्य सचिव ने कलेक्टरों से कहा कि आबादी एवम् नजूल भूमि के पट्टों को फ्री होल्ड कराएं. इससे हितग्राहियों को भू स्वामी का हक मिलेगा. तथा वे भूमि का हस्तांतरण आसानी से कर सकेंगे. इससे विकास बढ़ेगा और राज्य शासन का राजस्व भी बढ़ेगा.

Tags
Back to top button