राष्ट्रीय

छात्राओं ने जब मनचलों का किया विरोध, हॉस्टल में घुसकर की मारपीट

मनचलों का विरोध करने पर एक दर्जन से अधिक युवक लाठी डंडा लेकर हॉस्टल के अंदर घुस गए और तोड़फोड़ किए

सुपौल। बिहार के सुपौल जिले में महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा को लेकर बड़े सवाल खड़े कर दिए हैं. जिले के त्रिवेणीगंज में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय हाई स्कूल में रहने वाली छात्राओं ने जब मनचलों की छेड़छाड़ का विरोध किया तो उन लोगों ने लड़कियों की जमकर पिटाई कर दी.

घटना शनिवार शाम की है जब बाकी दिनों की तरह गांव के कुछ युवक इस आवासीय स्कूल की दीवार पर अश्लील और भद्दी बातें लिख रहे थे.

ये देख छात्राओं ने इसका विरोध किया. नाराज छात्राओं ने एक युवक को जमकर डांट लगाई जिसके बाद कुछ ही मिनटों में गांव के 2 दर्जन से भी ज्यादा लड़के लाठी डंडों के साथ स्कूल में पहुंच गए और छात्राओं पर हमला कर दिया.

गांव के इन गुंडों ने मना करने के बाद पहले तो स्कूल में तोड़फोड़ की उसके बाद एक-एक करके तकरीबन 3 दर्जन से भी ज्यादा छात्राओं की जमकर पिटाई की. तकरीबन एक घंटे तक गुंडों का कहर छात्राओं पर बरपता रहा और कोई भी उनकी मदद के लिए सामने नहीं आया.

इस घटना में तकरीबन 40 लड़कियां बुरे तरीके से घायल हो गईं हैं. थोड़ी देर के बाद जब प्रशासन को इसकी जानकारी मिली तो एंबुलेंस के साथ स्कूल पहुंचे और एक-एक करके सभी छात्राओं को स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए ले जाया गया.

इस दौरान कई छात्राओं के शरीर से खून बह रहा था और वह दर्द से कराह रही थीं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
छात्राओं ने जब मनचलों का किया विरोध, हॉस्टल में घुसकर की मारपीट
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags