जब अस्पताल ने नहीं दे एंबुलेंस तो बेबस पिता बाइक पर ले गया शव

दुनिया में सबसे बड़ा दु:ख अपने बेटे को शव कंधे पर ढोना होता है। सोचिए कि अगर इस हालत में शव को घर ले जाने के लिए कोई वाहन न मिले तो क्या गुजरती होगी।

ऐसी ही दिल दहलाने वाली घटना मंगलवार को टीएमएच अस्पताल के सामने देखने को मिली।

एक गरीब पिता की लाख गुहार के बावजूद अस्पताल द्वारा उसे एंबुलेंस उपलब्ध नहीं कराई गई। अंतत: बेबस पिता को अपने बेटे का शव बाइक से ढोकर ले जाना पड़ा।

 

[amazon_link asins=’B074P22W1Q,B071GTKHRK,B0759CRJSJ’ template=’ProductGrid’ store=’clipper28-21′ marketplace=’IN’ link_id=’3be3852c-9e9d-11e7-ab72-ed8c6e699d46′]

सांसद की मदद भी नहीं आई काम

गम्हरिया बास्को नगर के एक व्यक्ति के बेटे की मंगलवार को इलाज के दौरान टीएमएच में मौत हो गई थी। आर्थिक तंगी के कारण गरीब पिता ने सांसद विद्युतवरण महतो से बिल माफ करवाने की गुहार लगाई।

सांसद ने अस्पताल पहुंचकर बिल माफ करा दिया, पर जब शव को घर ले जाने की बात हुई तो अस्पताल ने एंबुलेंस देने से इनकार कर दिया।

पिता काफी देर तक एंबुलेंस के लिए गुहार लगाता रहा, पर किसी को तरस नहीं आई। अंतत: उसे अपने साथी की बाइक पर ही शव को घर ले जाना पड़ा।

Back to top button