जब साइकिल से 65 किमी सफर तय कर नामांकन पत्र खरीदने पहुंचे शिक्षक

-2010 में झूठे आरोप लगाकर विभाग ने कर दिया था टर्मिनेट

रोशन सोनी

अम्बिकापुर।

सरगुजा जिले में आज पूर्वान्ह 11 बजे अधिसूचना प्रकाशन के साथ ही नामांकन पत्र क्रय करने एवं जमा करने का कार्य प्रारंभ हो गया है। नामांकन दाखिले के पहले दिन आज अम्बिकापुर विधानसभा क्षेत्र से ग्यारह प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र क्रय किया जिसमें एक प्रत्याशी 65 किलोमीटर साइकिल से चलकर अंबिकापुर कलेक्ट्रेट पहुंचे और निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए चुनाव फॉर्म खरीदा। मैनपाट का रहने वाला कृष्ण नंदन पेशे से शिक्षक है जिसे 2010 में विभाग ने झूठा आरोप लगाकर टर्मिनेट कर दिया था.

जिसके बाद वह न्याय के लिए दर दर भटका लेकिन न्याय नहीं मिला अब इसके साथ हुए अन्याय के लिए वह पूरी तरह से लड़ने का मूड बनाकर मैदान में उत्तर गया है वह जिले के अंबिकापुर विधानसभा से निर्दलीय चुनाव लड़कर सिस्टम को सुधारने का मन बना लिया है.

अब ये अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ने विधानसभा चुनाव में किस्मत आजमाने जा रहे हैं खास बात ये है कि ये उम्मीदवार पूरे विधानसभा में सायकिल से प्रचार करेंगे, चुनाव फार्म लेने भी ये साईकिल से 65 km की दूरी तय कर मैनपाट से अम्बिकापुर निर्वाचन कार्यलय पहुंचे हैं और फिर मैनपाट के लिए रवाना हुए.

मीडिया से बातचीत में कृष्ण नंदन ने ताकि उनके पीछे कोई टीम खरीद नहीं है वह खुद ही अकेले साइकिल से अपना प्रचार करेंगे हार और जीत चुनाव में होते रहते हैं इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता।

Back to top button