तीन युवक वोट देने पहुंचे तो पता चला पहले ही ‘मर’ चुके हैं

रायपुर। राजातालाब स्थित पुजारी स्कूल के बूथ क्रमांक 177 में वोटिंग के दौरान उस समय हंगामे की स्थिति उत्पन्न हो गई, जब तीन से ज्यादा मतदाताओं को मृत बताकर उन्हें वोट देने से रोक दिया गया। पोलिंग कर्मियों को उन मतदाताओं ने अपने जिंदा होने का सुबूत दिया, इसके बावजूद उन्हें मतदान नहीं करने दिया गया, क्योंकि मतदाता सूची से उनके नाम गायब थे।

कई जगह ये भी शिकायत सामने आई कि बड़ी संख्या में मतदाताओं के नाम काटे गए हैं। इस कारण लोग परेशान होकर भटकते रहे। वहीं रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र 49 के आरडी तिवारी स्कूल आमापारा स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 160 में वोटिंग मशीन खराब होने से करीब एक घंटे तक मतदान रुका रहा।

वहीं शासकीय स्कूल फुंडहर स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 17 की ईवीएम खराब होने से मतदाताओं को काफी देर तक इंतजार करना पड़ा। इस दौरान लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। बाद में ईवीएम मशीन बदली गई।

एसएसपी और एडीजी ने पत्नी संग किया मतदान
रायपुर के एसएसपी आरिफ शेख हुसैन ने अपनी आइएएस पत्नी शम्मी आबिदी के साथ कचना स्थित मतदान केंद्र में मतदान किया। मतदान के बाद सेल्फी भी लेकर आम नागरिकों से मतदान करने की अपील की। वहीं एडीजी आरके विज ने भी अपनी पत्नी के साथ मतदान कर सेल्फी ली।

दोपहर बाद छाए बादल, तब उमड़े मतदाता

तेज धूप के कारण कई मतदान केंद्रों पर कहीं कम तो कहीं ज्यादा मतदान होता रहा। दोपहर के समय सेजबहार, डूंडा, बोरियाखुर्द, बोरियाकला स्थित मतदान केंद्रों में सन्नाटा पसरने से नेताओं व कार्यकर्ताओं की धड़कने बढ़ गईं, लेकिन अचानक तीन बजे आसमान में बादल छाते ही मतदाता फिर से मतदान करने निकल पड़े।

कुछ ही देर में इन मतदान केंद्रों पर लंबी कतारें लग गईं। यह नजारा देखकर नेता, कार्यकर्ता यह चर्चा करते रहे कि इंद्रदेव ने उनकी सुन ली। दोपहर में कुछ देर के लिए लंच ब्रेक कर दिया अब फिर से मतदान ने जोर पकड़ लिया है।

Back to top button