राष्ट्रीय

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कोरोना वैक्सीन को लेकर पीएम मोदी को कही ये बात…

कोविड-19 वैक्सीन के 90 फीसदी सफल होने की बात कहने के बाद डब्लूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस एडहोम घेब्रेयेसिस ने वैक्सीन के 'उचित आवंटन' की अपील की है।

नई दिल्ली: रूस की वैक्सीन स्पुतनिक के नतीजे 92 प्रतिशत तक प्रभावी आए हैं। इससे पहले फाइजर और बायोएनटेक द्वारा विकसित की जा रही वैक्सीन को 90 प्रतिशत तक प्रभावी माना गया है।

कोविड-19 वैक्सीन के 90 फीसदी सफल होने की बात कहने के बाद डब्लूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस एडहोम घेब्रेयेसिस ने वैक्सीन के ‘उचित आवंटन’ की अपील की है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने को 73वीं विश्व स्वास्थ्य महासभा में कहा कि संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी फाइजर की इस आशाजनक खबर का स्वागत करती है और उम्मीद करती है कि जल्द ही दुनिया को प्रभावी टीके मिलेंगे।

इस बीच महानिदेशक का हिंदी भाषा में किया गया ट्वीट वायरल हो रहा है। घेब्रेयेसिस ने ट्वीट किया, नमस्ते, प्रधान मंत्री @narendramodi आपसे ट्रेडिशनल मेडिसिन के संदर्भ में ज्ञान, अनुसंधान और प्रशिक्षण के लिए सहयोग और मजबूत करने पर बातचीत हुई। @WHO वैश्विक स्तर पर स्वास्थ्य में और यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज में भारत के नेतृत्व का स्वागत करता है!

इसके बाद महानिदेशक ने एक और ट्वीट किया, धन्यवाद प्रधान मंत्री @narendramodi COVAX के प्रति आपकी मजबूत प्रतिबद्धता और COVID-१९ वैक्सीन को वैश्विक स्तर पर उपलब्ध कराने पर ज़ोर देने के लिए। महामारी दुनिया के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती है, और हम इसे समाप्त करने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर काम करेंगे।

उन्होंने कहा, मैं सदस्य देशों से फिर से कोविड वैक्सीन के उचित आवंटन के लिए प्रतिबद्ध रहने की बात दोहराता हूं। हमें किसी भी देश को पीछे नहीं छोड़ना चाहिए। वर्तमान अनुमानों के आधार पर, फाइजर और बायोएनटेक इस साल विश्व स्तर पर 5 करोड़ वैक्सीन डोज और 2021 तक 1.3 अरब डोज तक का उत्पादन करेंगी।

इस मौके पर डब्ल्यूएचओ के अफ्रीका के क्षेत्रीय निदेशक मत्स्यदिसो मोएटी ने कहा, मोईटी ने कहा,”एक संभावित प्रभावी टीका उपलब्ध होने की खबर रोमांचक है, लेकिन अफ्रीकी देशों को इसे रखने के लिए जरूरी कोल्ड चेन को लेकर चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। इसे लेकर उसे सहायता देनी होगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button