जानें, पीएम नरेंद्र मोदी के दिल को क्यों छू गई कश्मीरी युवक बिलाल डार की यह कहानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कश्मीरी युवक बिलाल डार का जिक्र किया है. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर चर्चा शुरू हो गई है आखिर ये बिलाल डार कौन है जिसके पीएम मोदी भी फैन हैं.

बिलाल डार ने ऐसा क्या किया है? पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘नगर निगम श्रीनगर ने 18 साल के नौजवान बिलाल डार को स्वच्छता के लिए अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है.

बिलाल डार स्वयं 12-13 साल की उम्र में स्वच्छता में लग गया है. एशिया की सबसे बड़ी वुलर झील (Wular Lake) श्रीनगर के पास वहां प्लास्टिक हो, पॉलिथीन हो, यूज्ड बॉटल हो, कूड़ा-कचरा हो, बस हो साफ करता रहता है.

उसमें से कुछ कमाई भी कर लेता है क्योंकि उसके पिता जी की बहुत छोटी आयु में कैंसर से मौत हो गई थी. इसके बाद भी उसने अपना जीवन आजीविका के साथ-साथ स्वच्छता के साथ जोड़ दिया.

एक अनुमान है कि बिलाल ने सालाना 12 हजार किलो से ज्यादा कूड़ा कचरा साफ किया है. बिलाल डार श्रीनगर के बांदीपुरा का रहने वाला है. वह रह रोज वुलर झील की सफाई करते हैं.

यूं शुरू हुआ बिलाल का मिशन सफाई: बिलाल करी 12-13 साल का था, तभी एक दिन फीस नहीं जमा करने के चलते उसे स्कूल से निकाल दिया गया है.

उस वक्त उसके पास पैसे लाने का कोई उपाय नहीं था. तभी उसके दिमाग में आइडिया आया कि वह वुलर झील को साफ करेगा ओर उन कूड़ों को बेचकर अपने स्कूल की फीस भरेगा.

किसी जमाने में वुलर झील 272 वर्ग किलोमीटर में फैली थी, जो अब 72 किलोमीटर में रह गई है.

बिलाल ने बताया कि वह वुलर झील से निकाले गए कूड़ों को बेचकर परिवार चलाता है. उसे कभी सौ रुपए की कमाई होती है तो कभी 300 रुपए तक.

पिता की मौत के चलते परिवार का बोझ बिलाल के कंधों पर ही है. उसने बीच में ही अपनी पढ़ाई छोड़ दी है. सफाई के प्रति बिलाल के इसी जज्बे को देखते हुए उसे श्रीनगर का ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है.

पिछले दिनों एक कार्यक्रम में बिलाल ने कहा था कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता की बात की तो समझ में आया कि वह कुछ अच्छा काम कर रहा है, वरना इससे पहले वह इसे रोजगार के तौर पर करता था.

advt
Back to top button