किसने कहा – नेहरू को भी नहीं रास आई थी दोस्ती, जाने पूरी खबर ..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनौपचारिक चीन दौरे की बाद जहां कांग्रेस समेत दूसरे विपक्षी दल सवाल खड़े कर ही रहे हैं, वहीं अब बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने भी इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा है.

मुंबई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनौपचारिक चीन दौरे की बाद जहां कांग्रेस समेत दूसरे विपक्षी दल सवाल खड़े कर ही रहे हैं, वहीं अब बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने भी इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा है.

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में कहा गया है कि पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का विचार था- युद्ध नहीं, पर बुद्ध होना चाहिए’ और पीएम मोदी को यही विचार रास आ गया है.चीन दौरे पर सामना में लिखा गया है कि पीएम मोदी ने वहां आतंकवाद और सीमा उल्लंघन पर कोई बात नहीं की है.

सामना में पीएम मोदी को जवाहर लाल नेहरू और चीन की दोस्ती से जोड़कर देखा गया. लिखा गया है कि पंडित नेहरू को चीन से दोस्ती महंगी पड़ी थी. सामना में लिखा गया है कि पीएम मोदी पंडित नेहरु पर टिप्पणी का एक भी मौका नहीं छोड़ते हैं, लेकिन अब वह उनकी तरह ही समस्या के हल की कोशिश कर रहे हैं.

Back to top button