छत्तीसगढ़

ठंड में हुए शिकार मवेशियों का कौन होगा जिम्मेदार?

पशुओं को घर के अंदर नहीं रखने वाले पशु पालकों पर भी कार्रवाई की तैयारी शुरू हो गई

हर्षवर्धन

बिलासपुर।
बारिश होने के बाद निगम ने बड़ी संख्या में मृत मवेशियों को शहर के बाहर फेंका है। एक साथ बहुत ज्यादा संख्या में मृत मवेशियों की सूचना आने से निगम का अमला भी पस्त हो गया है।

अब तक शहर के दूरदराज सूनी जगहों पर उन्हें फेंका जा रहा है। वहां भी अब जगह कम पड़ने लगी है। हालात बिगड़ता देख अब निगम का अमला भी शहर अंदर के पशुपालकों को एहतियात बरतने की सलाह देने लगा हैए जिससे ठंड के शिकार मवेशियों को बचाया जा सके।

इसके अलावा अपने पशुओं को घर के अंदर नहीं रखने वाले पशु पालकों पर भी कार्रवाई की तैयारी शुरू हो गई है। इधर निगम के पास भी कांजी हाउस में मवेशियों को ठंड से बचाने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। ऐसे में वे भी धरपकड़ करने से कतरा रहे हैं।

निगम कांजी हाउस में मवेशियों को रखने के बजाए उन्हें गौशाला भेज रहा था। शहर से ज्यादा संख्या में मवेशी गौशाला भेजे जा रहे थे जिससे अब वे भी उन्हें रखने तैयार नहीं है। गौशाला वालों के इंकार करने के बाद निगम ने भी बेसहारा मवेशियों की धरपकड़ करने का काम कम कर दिया है।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: