छत्तीसगढ़

कौन होगा, प्रदेश का प्रधान मुख्य वन संरक्षक

कौन होगा, प्रदेश का प्रधान मुख्य वन संरक्षक

रायपुर । गुरुवार को प्रदेश के प्रधान मुख्य वन संरक्षक आरके टम्टा सेवा निवृत्त होने जा रहे हैं। ऐसे में नए पीसीसीएफ को लेकर एक बार फिर से वन विभाग के महकमें में दावेदारों के रिकार्ड खंगाले जाने लगे हैं। जानकारों का कहना है कि सीनियारिटी के हिसाब से इनमें शिरीष अग्रवाल का नाम सबसे ऊपर है। हालांकि इसके लिए 2 दावेदार और बताए जा रहे हैं। इनमें आरके सिंह और मुदित कुमार के नामों की भी चर्चा है।

आरके सिंह पीसीपीएफ वाइल्ड लाइफ हैं तो वहीं मुदित कुमार लघु वनोपज संघ के एमडी।
शिरीष अग्रवाल ने अपने वनौषधि बोर्ड में रहने के दौरान खूब काम किया था। मेहनती और मिलनसार प्रवृत्ति के अफसर अग्रवाल काफी मेहनती माने जाते हैं। ये दीगर बात है कि उनका टै्रक रिकार्ड साथ नहीं दे रहा है। सरकार ने उनको पीसीसीएफ भी नहीं बनाया।

उनके खिलाफ विभागीय जांच भी हुई। उनको प्रमोशन के लिए सुप्रीम कोर्ट तक जाना पड़ा तब जाकर उनका प्रमोशन हुआ। इतना सबकुछ होने के बावजूद भी वरिष्ठ आइएएस अफसर अग्रवाल का मनोबल नहीं टूटा। पदोन्नति नहीं होने के मामले में उन्होंने तत्कालीन मुख्य सचिव पर ये आरोप लगाया था कि वे ही अफसर अग्रवाल का प्रमोशन नहीं होने दे रहे हैं। इसके कारण उनको कुछ अधिकारियों की नाराजगी भी झेलनी पड़ी। ये मामला 6 जुलाई 2015 का बताया जा रहा है।

वर्तमान में पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ आरके सिंह एक समय में विश्व बैंक के कंसल्टेंट थे। वे काफी समय तक विदेशों में भी काम किया है। अपनी कड़ी मेहनत और मिलनसार स्वभाव के कारण अक्सर लोगों में चर्चा का विषय बने रहते हैं। वन विभाग के प्रशिक्षण केंद्र भोपाल में वे लंबे समय तक काम कर चुके हैं। तो वहीं मध्य प्रदेश की वन परियोजना में उनका अहम योगदान बताया जा रहा है। इनसे आईएएस लॉबी भी काफी खुश रहती है। इनकी साफ-सुथरी छवि इनका रास्ता आसान बना सकती है।

अब बचे आइएएस अफसर मुदित कुमार । भूमि प्रबंधन में लंबे अरसे से पोस्टेड रहने के कारण इनकी सत्ता के गलियारों में गहरी पैठ है। इनके पास अभी काफी समय है। व्यवहार मुदित कुमार का भी काफी अच्छा है। विभाग के जानकारों का कहना है कि जब आरके सिंह सेवा निवृत्त होंगे तो उस समय ये इस पद के लिए काफी मजबूत दावेदार होंगे। ऐसे में पूरे विभाग की नजरें इसी पर टिकी हुई हैं कि आखिर कौन होगा, प्रदेश का प्रधान मुख्य वन संरक्षक?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.