झीरम की जांच के नाम पर भाजपा को पसीना क्यों : कांग्रेस

रायपुर : झीरम मामले में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा लगातार की जा रही बयानबाजी पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया सचिव सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि पहले विधानसभा में मुख्यमंत्री रमन सिंह और अब बयानों के माध्यम से भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने जीरम नरसंहार के मामले में जो टिप्पणी की है उससे ऐसा प्रतीत हो रहा है।

जीरम मामले की जांच रूकवा कर भाजपा ने बड़ी राजनैतिक सफलता हासिल कर ली है। जीरम की जांच पर भारतीय जनता पार्टी को पसीना क्यों छूटने लगता है? जीरम नरसंहार भारत का सबसे बड़ा राजनैतिक हत्या कांड है, इसमें कांग्रेस और छत्तीसगढ़ ने अपने नेताओं की पूरी एक पीढ़ी को खोया है। छत्तीसगढ़ का हर नागरिक चाहता है जीरम की सच्चाई सामने आये और इस हत्याकांड के पीछे छिपे हुये चेहरे बेनकाब हों।

विधानसभा में सीबीआई जांच की घोषणा करने के बाद भी भाजपा सरकार जीरम की जांच से क्यों पीछे हट गयी है? नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव के साथ जीरम के शहीद परिवारों के लोग मुख्यमंत्री रमन सिंह से मिले थे। मुख्यमंत्री ने शहीद परिवारों की मुलाकात केन्द्रीय गृहमंत्री से कराने का वायदा किया लेकिन आज तक मुलाकात नहीं करवाया गया।

सरकार क्यों नहीं चाहती इस मामले की जांच हो? जीरम हत्याकांड भाजपा के लिये एक घटना मात्र हो सकती है। कांग्रेस के लिये यह भावनात्मक रूप से अंतर्रात्मा को दहलाने वाली मार्मिक घटना हैं। कांग्रेस इस दुर्दांत घटना का सच सामने आने तक चुप नहीं बैठने वाली जब-जब अवसर मिलेगा कांग्रेस इस घटना की जांच की आवाज हर मंच से उठायेगी।</>

advt
Back to top button