छत्तीसगढ़

रमन ने मुख्यमंत्री रहते हुये नान घोटाले की सीबीआई जांच क्यों नहीं करवाई?: शैलेश नितिन

सीबीआई जांच की मांग पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते कहा

रायपुर: पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित नागरिक आपूर्ति निगम घोटाला मामले मेंसीबीआई जांच की मांग की है. वहीं प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा है कि रमन सिंह ने स्वयं मुख्यमंत्री रहते हुये नान के घोटाले की सीबीआई जांच को रोकने के लिये जी-जान जोर लगाया था।

गरीबों के चावल में किये गये 36000 करोड़ के नान घोटाले की जब आज जांच हो रही है और घोटालेबाज बेनकाब हो रहे है, तब सीबीआई जांच की मांग करके रमन सिंह पहले की ही तरह सच्चाई को छिपाये रखना चाहते है।

आज सीबीआई की मांग करने वाले रमन सिंह बतायें कि उन्होने मुख्यमंत्री रहते हुये नान घोटाले की सीबीआई से जांच क्यों नहीं करवाई? नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्ट ने जब सच्चाई उजागर कर ही दी है कि नान घोटाले का पैसा किन-किन के पास जाता था तो रमन सिंह सीबीआई जांच की मांग करके साफ सुथरा होने का दिखावा कर रही है।

रमन सिंह जी द्वारा नान घोटाले में सीबीआई जांच की मांग एसआईटी जांच को प्रभावित करने के लिये ही की जा रही है। पूरा छत्तीसगढ़ जानता है कि नान घोटाले में रकम किस-किसके पास पहुंचती थी?

आज शिवशंकर भट्ट पर आरोप मढ़ने वाले रमन सिंह बतायें कि इन्हीं शिवशंकर भट्ट को उन्होने पहले अपने निजी स्टाफ में क्यों रखा था और फिर नान की पूरी जिम्मेदारी किन कारणों से सौप रखी थी?

शिवशंकर भट्ट उस समय बेदाग थे और अब रमन सिंह जी के बारे में मुंह खोलते ही दागदार कैसे बन गये? क्या रमन सिंह जी के गलत कामों को उजागर करना ही शिवशंकर भट्ट को दागदार बनाने के लिये पर्याप्त है?

Tags
Back to top button