छत्तीसगढ़

जब मुंबई स्तर की सारी सुविधाएं यहां तो हमें मौका क्यों नहीं ? : चौरसिया

रायपुर : राजधनी में रविवार शाम इंडोर स्टेडियम में पार्श्व गायक अंकित तिवारी के कार्यक्रम में बाहर से साउंड सिस्टम आया है। जबकि छत्तीसगढ़ ऑडियो विजअल एंड लाइट ओनर्स एसोशियेसन रायपुर के पास अपना सिस्टम है। हमें मौका मिलना चाहिए। उक्त बातें एसोशियेसन के सचिव राजेश चौरसिया ने कही। साथ ही शासकीय कार्यक्रमों, राज्योत्सव में भागीदारी देने एसोशियेसन जल्द शासकीय अधिकारियों से मुलाकात करेगा।
श्री चौरसिया ने आज एक पत्रकारवार्ता में कहा कि, जब मुंबई स्तर की सारी सुविधाएं जब हमारे पास हैं तो बाहर से लाने की जरूरत क्या है? राज्योत्सव में भी बाहर से ही बंदोबस्त किया जाता है। एसोशियेसन मांग करता है कि हमें भी मौका मिलना चाहिए। छत्तीसगढ़ में एक संगठन की आवश्यकता महसूस की जा रही थी, जिसे ध्यान में रखकर इस एसोशियेसन की गठन किया गया है।
वीएनएस के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि, एसोशियेसन छत्तीसगढ़ के कार्यक्रमों में स्थानीय लोक कलाकारों को भी मौका देगा। उनके लिए नि:शुल्क सुविधाएं रहेगी। छत्तीसगढ़ में ऐसे बहुत से कलाकार है जिन्हें प्रमोट करने में हमारा एसोशियेसन प्रयास करेगा। वहीं छत्तीसगढ़ के कार्यक्रमों में ऑडियों विजवल प्रजेनटेशन के दौरान यह भी प्रयास किया जायेगा कि, छत्तीसगढ़ी लोक धुनों को स्थान दिया जाए। निजी क्रार्यक्रमों में तो ऑर्गनाइजर की डिमांड पर ही सारी रूपरेखा तय की जाती है।
छत्तीसगढ़ ऑडियों विजुअल एवं लाईट एसोशियेसन का सम्मेलन रविवार को राजधानी के एक हॉटल में हुआ। शपथ समारोह का भी आयोजन किया गया है। एसोशियेसन साउंड, प्रोजेक्शन, ट्रस, लाईट, एलईडी वॉल जैसे आधुनिक उपकरणों के विपणन और सेवाएं देगा। यह राज्य का पहला संगठन है, जिसमें छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के साउंड, प्रोजेक्शन और लाईटिंग व्यवसायियों को जोड़ा जा रहा है। फरवरी 2017 में एसोशियेसन का गठन हुआ है। एसोशियेसन में 13 बोर्ड ऑफ मेंबर और 75 सदस्य प्रदेश भर से हैं।
शासकीय दिशा निर्देशकों के अनुरूप एसोशियेसन की कार्य करने की योजना है, जिससे हम छत्तीसगढ़ राज्य के विकास में बराबर भागीदार बन सके। आपसी भाईचारा और एकजुटता को ध्यान में रखकर सबके साथ सबका विकास मूलमंत्र पर कार्य करने की योजना है, जिससे गलाकाट प्रतिस्पर्धी बाजार में स्वस्थ वातावरण का निर्माण हो सके। व्यवसायिक समस्या का समय पर निराकरण और विशेष परिस्थिति में संबंधित विभाग से निवेदन और मार्गदर्शन की अपील की गई है। साथ ही छत्तीसगढ़ चैंबर्स आफ कॉमर्स से जुडऩा चाहेगें जिससे हम सभी लोग एक ही मंच पर आ सके। व्यवसाय वृद्धि के लिए बैंक से वित्तीय सहयोग के लिए भी हमारा फोकस होगा।
संगठन में कमजोर को सहयोग देकर उसके विकास में भागीदारी होगी। समय-समय पर शिक्षण-प्रशिक्षण, संगोष्ठी, परिचर्चा, संगोष्ठी, परिचर्चा,सेमीनार, प्रदर्शनी, कार्यशाला, भ्रमण स्पर्धाओं आदि का आयोजन किया जायेगा। साथ ही संगठन के सदस्यों के स्वास्थ्य की भी ध्यान रखा जायेगा, ताकि रात्रिकालीन कार्यक्रमों को सफलता पूर्वक कराने में आसानी हो। जीएसटी में पंजीयन और समय समय पर सेमीनार का आयोजन के साथ साथ संगीत – नृत्य में रूचि रखनेवाले प्रतिभाशाली बच्चों को रियायती दरों पर उपकरणों की उपलब्धता कराना इस संस्था का मकसद है।
संगठन में कमजोर को सहयोग देकर उसके विकास में भागीदार बनना और समाज में व्याप्त कुरीतियों एवं भ्रांतियों का आडियो विडियो के माध्यम से निराकरण किया जायेगा।
प्रेसवार्ता में एसोशियेशन के अध्यक्ष रिक्की सिब्बल, उपाध्यक्ष लोकेश बंजारी, सचिव राजेश कुमार, उप सचिव सुबल शर्मा, पीआरओ – आनंद नारायण और बोर्ड ऑफ डॉयरेक्टर्स में मोहम्मद सोहेल, निलेश देसाई, संतोष यादव, नवीन तलवार, दलजिंदर सिंग, तपेश बंजारी, के मुरहारी राव, शिव कुमार साहू, आर के अग्रवाल, छबि किशोर मिश्रा और परेश दोशी उपस्थित थे।

Back to top button