राष्ट्रीय

तूफान के कारण US में क्यों नहीं बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम : शिवसेना

मुंबई : पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विरोधी दलों के निशाने पर है. अब राजग में के घटक दल शिवसेना ने भी सरकार पर हमला बोला है. शिवसेना ने पूछा, “अगर अमेरिका में आया तूफान तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के लिए जिम्मेदार है तो अमेरिका और यूरोप में कीमतों में वृद्धि क्यों नहीं हुई.’ पिछले हफ्ते पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने तेल की कीमतों में वृद्धि के लिए अमेरिका में आए तूफान को जिम्मेदार ठहराया था. साथ ही उन्होंने कहा था कि आने वाले कुछ दिनों में जैसे ही अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतें कम होंगी कीमतों नीचे आ जाएंगी.

शिवसेना की बीजेपी पर हमला
शिवसेना ने केंद्र सरकार से कहा है कि 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से रसोई गैस और सब्जियों जैसी रोजाना इस्तेमाल होने वाले उत्पादों की कीमतों में वृद्धि हुई है. सेना ने पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में पूछा, “अगर तेल की कीमतों में वृद्धि के लिए अमेरिका में आया तूफान जिम्मेदार है तो क्यों यूरोप और अमेरिका में ईंधन कीमतों में वृद्धि नहीं हुई और सिर्फ भारत में हुई.’ मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से विकास दर कम हुई है, औद्योगिकीकरण में कमी आई है, बेरोजगारी बढ़ी है, मुद्रास्फीति बढ़ी है. इस दौरान शिक्षा से लेकर हरी धनिया और चीनी तक महंगी हुयी है. पार्टी ने कहा, “जो लोग कह रहे हैं सेना के विधायक और सांसद ‘मोदी लहर’ में जीते हैं तो वो शायद ये भूल रहे हैं कि पिछले 25-30 सालों से वे सेना की लहर में जीवित हैं. मोदी लहर इतनी ही प्रभावी है तो लोगों की समस्याएं क्यों नहीं सुलझ रही हैं.

Related Articles

Leave a Reply