क्यों पूरे वर्ल्ड में मनाया जाता है ब्रेस्ट फीडिंग वीक? जानिए स्तनपान करवाने के फायदे

आज पूरे वर्ल्ड में ब्रेस्ट फीडिंग वीक मनाने की शुरूआत हो चुकी है।

आज पूरे वर्ल्ड में ब्रेस्ट फीडिंग वीक मनाने की शुरूआत हो चुकी है। आपको बता दें हर साल अगस्त की 1 से लेकर 7 तारीख तक यानी की पूरे हफ्ते तक ब्रेस्ट फीडिंग वीक मानाया जाता है। इस सप्ताह को इसलिए मनाया जाता है ताकि औरतों को ब्रेस्ट फीडिंग के लिए जागरूक किया जा सके।

बच्चे के लिए जरूर है ब्रेस्ट फीडिंग

 

बच्चे के लिए मां का दूध अमृत के समान होता है। शिशु जन्म के बाद 6 महीने तक सिर्फ मां के दूध पर ही निर्भर रहता है। ब्रेस्ट फीडिंग से ही बच्चे का शारीरिक विकास होता है।

ब्रेस्ट फीडिंग छुड़वाने का सही समय

बच्चों को 6 महीने से लेकर डेढ़ साल तक दूध ब्रेस्ट फीडिंग करवानी चाहिए। इससे ज्यादा मां का दूध पिलाने से औरतों के शरीर पर बुरा असर पड़ता है। क्योंकि इस समय के बाद महिलाओं के ब्रेस्ट में दूध आना बंद हो जाता है।

बच्चों को स्तनपान करवाने के लाभ

1. हड्डियां मजबूत होना

मां का दूध पीने से बच्चे के शरीर को सारे विटामिन्स और प्रोटीन मिलते हैं। शरीर में मौजूद पोषक तत्व बच्चों की हड्डियों को मजबूत करने और उनको बीमारियों से बचाने का काम करता है।

2. दिमाग का विकास

मां का दूध बच्चे का दिमागी विकास करता है। ये बच्चे के सोचने समझने की क्षमता को भी बढ़ता है। अगर आप चाहते हैं कि बच्चे इंटेलिजेंट हो तो उसको स्तनपान करवाएं।

3. एलर्जी से बच्चों को सुरक्षा

मां के दूध में पाए जाने वाले गुण बच्चे को किसी भी तरह की एलर्जी नहीं होने देता। बच्चे को बीमारियों से दूर रखने के लिए 6 महीने तक दूध पीलाएं।

4. मोटापे से बचाव

स्तनपान करने से बच्चों को मोटापे की समस्या नहीं होती। जो बच्चे जितनी ज्यादा समय तक स्तनपान करते हैं उतना ज्यादा पतले रहते हैं। बच्चे को मोटापे की समस्या से बचाने के लिए स्तपान जरूर करवाएं।

5. बीमारियों से सुरक्षा

स्तनपान करने से बच्चों को टाइप 1, टाइप 2 डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल बढ़ना, आंत संबंधी बीमारियां होने का खतरा कम रहता है।

<>

Tags
Back to top button