छत्तीसगढ़

पनामा पेपर्स में नाम आने के बाद भी इस्तीफा क्यों नहीं दे रहे मुख्यमंत्री: राहुल गाँधी

रायपुर. राष्ट्रीय कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि पनामा पेपर्स में नाम आने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अपना इस्तीफा दे दिया पर उसी दस्तावेज में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उनके परिवार का नाम शामिल होने के बावजूद वह चुप्पी साधे हुए हैं. आश्चर्य की बात यह कि भ्रष्टाचार की बात करने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपने लोग नहीं दिखाई देते. बता दें की राहुल गाँधी दो दिवसीय बस्तर दौरे पर हैं और ये बाते उन्होंने आज बस्तर में एक सभा के दौरान कहीं. राहुल ने कहा कि कल उनसे अलग-अलग प्रतिनिधिमंडल के लोग मिलने आये जिन्होंने भ्रष्टाचार, महिलाओं पर आत्याचार और अपराधों के बढ़ते ग्राफ के विषय में बात की पर किसी ने भी छतीसगढ़ की प्रगति की विषय में कुछ भी नहीं कहा.

राहुल ने बोला कि छतीसगढ़ में आमजन के जमीं,जल और जंगल उनसे छिनते जा रहे है यहाँ प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं बावजूद इसके आरएसएस के लोगों को महाराष्ट्र से बुलाकर नौकरी पर रखा जा रहा है. यहाँ के युवा बड़े शहरों की ओर काम की तलाश में पलायन कर रहे हैं. उन्होंने नोटबंदी पर अपनी बात रखते हुए कहा कि मोदी ने हिंदुस्तान के चोरों के लिए दरवाज़ा खोल दिया, जिसके चलते कई लोगों ने अपने काले धन को आसानी से जायज बना लिया. आज तक रिजर्व बैंक नहीं बता पाया है कि नोटबंदी के बाद कितना काला धन जमा हुआ है. मोदी सरकार के आने के बाद कई प्रदेश जल रहे हैं, क्या इसे ही अच्छे दिन कहते है. राहुल ने अपने उद्बोधन में कार्यकर्ताओं को आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अभी से तैयारियों में जुटने का भी आह्वान किया. इस मौके पर प्रदेश प्रभारी पी.एल.पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, टी.एस.सिंहदेव, सत्यनारायण शर्मा, उमेश पटेल सहित कार्यकर्ता मौजूद थे.

Tags
Back to top button