पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी ने क्यों तोडा? महागठबंधन में होंगे शामिल

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) सेक्युलर के प्रमुख जीतन राम मांझी ने एनडीए से गठबंधन से तोड़ दिया है

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) सेक्युलर के प्रमुख जीतन राम मांझी ने एनडीए से गठबंधन से तोड़ दिया है.

एनडीए को अलविदा कहने के बाद जीतन राम मांझी महागठबंधन का हिस्सा होंगे. राजद नेता तेजस्वी यादव के साथ जीतन राम मांझी ने मीडिया को संबोधित किया. मीडिया से बातचीत के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि मांझी अब महागठबंधन में शामिल होने जा रहे हैं. वह मेरे माता-पिता के पुराने दोस्त हैं इसलिए मैं उनका स्वागत करता हूं.

बुधवार को उनकी तरफ से इसका ऐलान किया गया. जीतनराम मांझी ने कहा कि इस बाबत सभी औपचारिकता पूरी हो गई है और कल घोषणा की जाएगी.

इससे पहले जीतन राम मांझी ने बिहार से राज्यसभा की छह सीटों में से अपनी पार्टी का एक उम्मीदवार बनाने की मांग की थी. मांझी ने आगामी 23 मार्च को बिहार से राज्यसभा की छह सीटों के लिए होने वाले द्विवार्षिक चुनाव में अपनी पार्टी से एक व्यक्ति को राजग का उम्मीदवार घोषित किए जाने की मांग की थी.

उन्होंने कहा कि अगर राजग नेतृत्व ने उनकी मांग को अनसुनी की तो हम सेक्युलर के नेता और कार्यकर्ता बिहार में आगामी 11 मार्च को हो रहे अररिया लोकसभा सीट और जहानाबाद एवं भभुआ विधानसभा उपचुनाव में राजग उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार नहीं करेंगे.

मांझी ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नाम पर राजग का समर्थन करते रहे हैं. उन्होंने एक कहावत को उद्धत करते हुए कहा कि जबतक बच्चा रोता नहीं है तब तक मां बच्चे को दूध नहीं पिलाती है. यही स्थिति ‘हम’ के साथ है. उन्होंने कहा कि वे और उनकी पार्टी राजग की पिछले तीन साल से तन-मन-धन से सेवा कर रहे हैं. एकपक्षीय काम होता रहा है.

new jindal advt tree advt
Back to top button