छत्तीसगढ़

आदतन अपराधियों, फरार वारंटियों पर आखिर पुलिस मेहरबान क्यों?

भरत मंगवानी:

बिलासपुर:बिलासपुर में आये दिन अपराधी प्रवृत्ति के आदतन बदमाश रोज नए अपराध को अंजाम देते है मामला भी संबंधित थानों में दर्ज होता है पर उनकी गिरफ्तारी नही हो पाती फरार आरोपी खुलेआम घूम रहे है।

पुलिस की कही न कही इसमे मिलीभगत का अंदेशा जाहिर किया जा रहा है पिछले कुछ महीनों में दर्जनों अपराध में नजर डाली जाए तो कुछ ऐसा ही मालूम होता है कि राजनीतिक सरंक्षण प्राप्त आदतन अपराधी पुलिस की मिलीभगत के कारण खुलेआम घूम रहे है और फिर से इनके किसी अगले अपराध को अंजाम देने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

निगम के ई ई पंचायती पर हमला हो या रिटायर्ड सी एस ई बी अफसर भूपेंद्र शर्मा की आत्महत्या के लिए उकसाना इसका उदाहरण है,दोनों मुख्य मामलों के आरोपीयो की अभी तक गिरफ्तारी नही हो पाई है।

पुलिस की सांठगांठ से इनकार नही किया जा सकता है। जिले की साइबर सेल अपना काम बखूबी ईमानदारी से करती है पर थानों की पुलिस आरोपियों को सांठगांठ करके बचाने की कोशिश कर रही है ऐसा लगता है।

सिटी कोतवाली थाना और सिविल लाइन थाना में ऐसे दर्जनों मामले है जिसमे आरोपियों की गिरफ्तारी अभी तक नही हो पाई है जबकि सूत्रों से मिली जानकारी के हिसाब से आरोपी शहर में ही खुले में घूम रहे है। फिर अगर इन आरोपियों ने कोई और अपराध किया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा ये पुलिस प्रशासन को तय करना पड़ेगा।

Tags
Back to top button