वृंदावन की विधवा बहनों ने पीएम मोदी को भेजी राखियां

वृंदावन: देशभर में 22 अगस्त को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाएगा। भाई की कलाई पर राखी बंधने के लिए बहनों ने पूरी तैयारी कर ली है। इस बीच रक्षाबंधन पर्व को लेकर वृंदावन में रहने वाली विधवा बहनों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को राखी और वृंदावन थीम वाले मास्क भेजे हैं। कुछ साल पहले तक कुछ विधवा बहने रक्षाबंधन के ही दिन राखी बांधने के लिए पीएम आवास दिल्ली जाती थीं, लेकिन कोरोना संकट के कारण दो सालों से नहीं जा सकी हैं।

आज पहुंचेंगी पीएम मोदी को राखियां

सुलभ होप फाउंडेशन के द्वारा हर साल विधवा बहनों के लिए राखी बनाने का कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। शुक्रवार को भी आयोजन वृंदावन के मां शारदा आश्रम में किया गया। बहनों ने दो टोकरी में अपने द्वारा बनाई गयी राखी को सजाकर पीएम मोदी के लिए दिल्ली भेजी है। सुलभ के प्रतिनिधि द्वारा बताया कि यह राखियां शनिवार तक पीएमओ पहुंच जायेंगी।

पीएम के लिए 251 विशेष राखी तैयार

गौरतलब हो कि सामाजिक कलंक को तोड़ने के उद्देश्य से, प्रसिद्ध सामाजिक सुधारक और सुलभ आंदोलन के संस्थापक डॉ. बिंदेश्वर पाठक ने वृंदावन में रहने वाली विधवाओं के लिए सभी महत्वपूर्ण हिंदू अनुष्ठानों का आयोजन शुरू किया था। रक्षाबंधन भी उसमें से एक है, लेकिन पिछले दो सालों से कोरोना संकट के कारण ऐसा कोई कार्यक्रम संभव नहीं हो सका। इससे पहले हजारों विधवाओं की ओर से, चार-पांच विधवाएं बहनें प्रधानमंत्री मोदी को राखी बांधने के लिए दिल्ली जाती थीं। लेकिन दो वर्षों से कोरोना संकट के चलते यह बहनें नहीं जा पा रही है। लेकिन इस बार भी उन्होंने पीएम मोदी के छवियों के साथ 251 विशेष राखी तैयार की हैं और साथ में विशिष्ट “वृंदावन-थीम” वाले फेस मास्क भी तैयार कर शुक्रवार भेजे हैं।

फाउंडेशन की उपाध्यक्ष विनीता वर्मा ने कहा कि कुछ राखियों में पीएम मोदी का मास्क युक्त फोटो भी है। लगभग 77 वर्षीय उषा दासी, जिन्होंने बीते दिन व्यक्तिगत रूप से प्रधानमंत्री को राखी बांधने गयी थीं। इस बार वे नहीं जा पाने से काफी दुखी है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button