छत्तीसगढ़

मिट्टी तेल डालकर पत्नी को जलाया जिंदा, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

-हिमांशु सिंह ठाकुर

कवर्धा।

ग्राम खैरबना कला में एक विवाहिता की जलने के दौरान मौत की घटना के बाद जांच में जुटी कवर्धा पुलिस ने आरोपी के सभी पुख्ता साक्ष्य सबूत के साथ ,अपनी ही पत्नी को सोई हुई अवस्था में जिंदा जलाने वाले आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि आरोपी ने अपनी पत्नी को सिर्फ इसलिए जिंदा जला डाला क्यों कि वह उसे शराब और गांजा पीने के लिए पैसे नहीं दे रही थीं ।

पुलिस के गिरफ्त में आए इस आरोपी के विरूद्व धारा 302 भादवि के तहत कार्यवाही करते हुए उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। मिली पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार कवर्धा थाना क्षेत्र के ग्राम खैरबना कला निवासी भरत छेदावी पिता बैसाखु छेदावी उम्र 28 वर्ष द्वारा गत 10 जुलाई को अपनी ही पत्नी श्री मती जलेश्वरी बाई को अर्धजली हुई अवस्था में कवर्धा जिला अस्पताल मे दाखिल करया था।

जहां प्रारंभिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने जलेश्वरी की गंभरी अवस्था को देखते हुए उसे तत्काल रायपुर अस्पताल के लिए रिफर कर दिया गया। बताया जाता है कि यहां ईलाज के दौरान उसकी 16 जुलाई को मौत हो गई थी। जिसकी सूचना अस्पताल प्रशासन द्वारा कवर्धा पुलिस को दी गई थी। अस्पताल प्रशासन की सूचना के आधार पर कवर्धा पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को विवेचना मे ले लिया था।

पुलिस अधीक्षक ड़ाॅ लाल उमेंद्र सिंह के निर्देश तथा कवर्धा कोतवाली प्रभारी मुकेश सोम के नेतृत्व में जांच अधिकारी सहायक उप निरिक्षक अलेकजेण्डर एक्का एंव टीम ने विवेचना के दौरान मृतका के मायके पक्ष ,ससुराल पक्ष ,आसपास के ग्रामीणों तथा उसके बच्चों से पूछताछ की गई। जिसमें खुलासा हुआ कि मृतिका जलेश्वरी बाई को उसका पति भरत छेदावी शादी के 3-4 वर्ष के बाद से लगातार शराब पीकर शराब व गांजा के लिए पैसे की मांग करते आ रहा था और पैसे नहीं देने पर उसके साथ विवाद -विवाद ,लड़ाई झगड़ा तथा मारपीट करता था।

जिस पर पुलिस ने शंका के आधार पर भरत को हिरासत में लेकर बारीकी से पुछताछ की, जिस पर उसने अपनी पत्नी की हत्या का आरोप कबूल लिया । इस खुलासे के बाद पुलिस ने आरोपी को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags