पत्नी बार-बार जाती है मायके जज साहब तलाक दिला दो

पति की फरियाद को अदालत ने किया खारिज

विशाल वर्मा

बिलासपुर: पत्नी के बार-बार मायके जाने के परेशान पति ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर तलाक दिलाने की मांग की। कोर्ट ने आरोप सिद्व नहीं होने पर याचिका को खारिज कर दिया है। बैकुंठपुर निवासी गोविंद ने परिवार न्यायालय में तलाक के लिए परिवार पेश किया था, इसमें कहा गया कि शादी के बाद से पत्नी घर में कोई काम नहीं करती , वह खाना तक नहीं बनाती है, इसके अलावा पति व ससुराल वालों को बिना बताए अक्सर अपने मायके चली जाती है.

उसकी इस हरकत से घर में हमेशा तनाव बना रहता है।ने आरोप सिद्व नहीं होने पर परिवाद को निरस्त कर दिया। इसकेखिलाफ पति ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की कोर्ट ने पाया कि पत्नी द्वारा घर के काम नहीं करने व बार-बार मायके जाकर पति को मानसिक प्रताड़ना के संबंध में कोई साक्ष्य पेश नहीं किया जा सका है, इस पर हाईकोर्ट ने परिवार न्यायालय के आदेश को यथावत रखा है।

new jindal advt tree advt
Back to top button