छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सयुंक्त तत्वावधान में वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह रैली

सोनू सेन:

पिथौरा:बार नवापारा-वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह के अन्तर्गत रैली निकाल कर इसके संरक्षण एवं संवर्धन के लिए लोगों में जागरूकता संदेश पहुंचाया गया। बारनवापारा में इस अभ्यारण्य के स्थानीय वन विभाग व शासकीय हायरसेकंडरी स्कूल के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सयुंक्त तत्वावधान में इस जुलूस के माध्यम से वन एवं वन्यजीवों की रक्षा-सुरक्षा के प्रति लोगों का ध्यानाकर्षण कराया।

महिला स्वसहायता समूह व ग्रामीण भी शामिल

इस जागरूकता रैली में वन अमलों के साथ ही साथ स्कूल के विद्यार्थी, शिक्षक, महिला स्वसहायता समूह व ग्रामीण भी शामिल हुए। रैली में शामिल वन विभाग की सरकारी गाड़ियाँ वन एवं वन्यप्राणी के संरक्षण-सवर्धन संबंधी स्लोगन लिखे नारों-बैनरों से सजे-धजे थे।

स्कूली विद्यार्थियों के साथ ही अमलें व सम्मिलितजन नारोंल्लेखित ताकतियां व बैनर हाथों में थामें बुलंदी आवाज से सूखी धरती करे पुकार, वृक्ष लगाकर करों श्रृगांर, वन्य के दर्शन पाते ही रोम-रोम हर्षित हो जाते, वन्यजीव वनों का श्रृंगार, करो न तुम इसका नाश जैसे आदि अनेक लगते नारों से रैली गुंजता रहा।वन मुख्यालय से शुरु हुई यह जुलूस गांव की गलियों में फेरा लगती हुई वन विश्रामगृह बारनवापारा में पहुंते ही सभा में तब्दील हो गई।

जहाँ पर वन अधीक्षक आर.एस.मिश्रा ने लघुकथा के माध्यम से अपने विचार उद्बोधन में वन्य प्राणी संरक्षण सप्ताह के बारे में बताते हुए वन एवं वन्यजीवों के संरक्षण-संवर्धन की अपील की।

परिक्षेत्र अधिकारी कोठारी टी.एस.ध्रुव ने इस दौरान वन एवं वन्यजीवों की महत्ता पर प्रकाश डाला।एन.एस.एस.कार्यक्रम अधिकारी दुर्गेश कुमार वर्मा ने वन्यजीव संरक्षण एवं स्वच्छता पर अपनी बात रखी।इसके अतिरिक्त कक्षा बारहवीं के चुम्मन भोई व कुमारी रितिका कैवर्त, दसवीं की कुमारी पायल चौहान तथा कक्षा नवमीं की कुलजीत कैवर्त ने भी सभा मंच में अपने विचार रखे।

8 तारीख तक चलने वाला है वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह

इस माह के 8 तारीख तक चलने वाले वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह के अवसर पर निकाले गए इस रैली में वन अधीक्षक बारनवापारा अभ्यारण्य आर.एस. मिश्रा के साथ परिक्षेत्र अधिकारी कोठारी टी.एस.ध्रुव, सहायक परिक्षेत्र अधिकारियों में रामपुर पवन कुमार सिन्हा, चरौदा सालिक राम डड़सेना, आमगांव सुरेन्द्र कुमार सिदार, फुरफुंदी शत्रुहन लाल चौहान, कोठारी जीवन लाल साहू, लाटादादर खिलावन प्रसाद डहरिया, परिक्षेत्र बार नवापारा व कोठारी के वनरक्षक नेहरू राम निषाद, अमिताभ बंजारे, विजय कुमार निषाद, मनोज कुमार उरांव, राजकुमार तारम, देवेंद्र ठाकुर, वार्ले राठिया, ओमप्रकाश भुआर्य, जेके बांधे, अजीत वर्मा, रमसु नेताम एवं छात्र-छात्राएं व ग्रामीण प्रमुख रूप से शरीक रहे।

Tags
Back to top button