पूर्वजों के सपनों को मिल-जुल कर पूरा करेंगे : भूपेश बघेल

बेलौदी जलाशय के जीर्णोद्धार के लिए 4 करोड़ रुपए की मंजूरी की घोषणा

रायपुर।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज दुर्ग जिले स्थित अपने पैतृक गृह ग्राम बेलौदी (विकासखण्ड-पाटन) में आयोजित पारिवारिक मिलन और अभिनंदन समारोह में शामिल हुए। मुख्यमंत्री के रूप में प्रथम गृह ग्राम आगमन पर परिजनों एवं ग्रामवासियों ने गर्म जोशी और आत्मीयता के साथ बघेल का स्वागत किया।

इस अवसर पर आयोजित अभिनंदन समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि समृद्ध छत्तीसगढ़ के निर्माण के लिए हमारे पूर्वजों ने जो सपना देखा था, उसे हमें मिल-जुल कर पूरा करना है। उन्होंने छत्तीसगढ़ के विकास में समाज के सभी वर्ग से सहयोग का आह्वान किया।

उन्होंने गांव में बिताए अपने बचपन के दिनों को भी याद किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का गढ़ है। यह धरा पुरातन काल से धार्मिक, राजनीतिक और सामाजिक आंदोलनों की जननी रही है।
मुख्यमंत्री ने समृद्ध छत्तीसगढ़ के निर्माण में नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के महत्व का उल्लेख करते हुए क्षेत्र में सिंचाई व्यवस्था, पशुधन विकास और किसानों के हित में लिए गए कर्जमाफी के ऐतिहासिक फैसलों को दोहराया। उन्होंने अभिनंदन के लिए ग्रामवासियों के प्रति आभार प्रकट किया।

बघेल ने ग्राम वासियों के आग्रह पर बेलौदी जलाशय के जीर्णोद्धार के लिए 4 करोड़ रूपए की मंजूरी की घोषणा की। उन्होंने साथ ही गांव में गौरव पथ और सामाजिक भवन के निर्माण की स्वीकृति भी दी। बघेल ने ग्राम के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय बंशीलाल के तैलचित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

सरपंच शंकर बघेल ने ग्रामवासियों की ओर से अभिनंदन पत्र का वाचन कर अभिनंदन पत्र मुख्यमंत्री को भेंट किया। कार्यक्रम को पूर्व संसदीय सचिव विजय बघेल सहित सीताराम वर्मा और मेहत्तर लाल वर्मा ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री के राजनैतिक संघर्ष और व्यक्तित्व पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाले।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपने निवास गृह के सामने बरगद का पौधा रोपा। कार्यक्रम में अनेक पंचायत प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

1
Back to top button