दक्षिण अफ्रीका में विशेष व्याख्यान देंगे..मैट्स के कुलपति प्रो. के.पी. यादव

अकादमिक शिखर सम्मेलन में विशेष अतिथि के रूप में आमंत्रित

रायपुर।  अमेरिका द्वारा विश्व गुरू एवं डी.लिट की उपाधि से सम्मानित मैट्स यूनिवर्सिटी के कुलपति  प्रो. के.पी. यादव दक्षिण अफ्रीका के मलावी में आयोजित किये जाने वाले अकादमिक शिखर सम्मेलन में विशेष अतिथि  के रूप में आमंत्रित किये गये हैं। प्रो. यादव “लीडरशिप एवं हाई परफार्मेंस” विषय पर व्याख्यान देंगे।

दक्षिण अफ्रीका में अकादमिक शिखर  सम्मेलन का आयोजन अगले माह 17 दिसंबर को किया जा रहा है जिसमें अफ्रीका के लगभग 200 से ज्यादा सीईओ हिस्सा ले रहे हैं। अकादमिक शिखर सम्मेलन  के  माध्यम से वैश्विक तकनीक, व्यवसाय, उद्यमिता और शैक्षणिक क्षेत्र एक मंच पर साझा होते हैं। इस सम्मेलन में जाम्बिया, दक्षिण अफ्रीका, मिस्र, मोरक्को और मलावी के विषय विशेषज्ञ हिस्सा ले रहे हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य  और  भारत  का  प्रतिनिधित्व मैट्स यूनिवर्सिटी  के कुलपति प्रो. के.पी. यादव करेंगे जो गौरव का विषय़  है। हाल  ही में  प्रो. के.पी. यादव को  विश्व स्तर पर शिक्षा के विकास के लिए किये जा रहे प्रयासों एवं उनकी शैक्षणिक उपलब्धियों को देखते हुए द यूनिवर्सिटी आफ सेंट्रल  अमेरिका, बोलिविया ने डी.लिट की मानद उपाधि  प्रदान की है। प्रो. यादव को  किंगडम लाइफ क्रिश्चियन यूनिवर्सिटी, (के.एल.सी.यू.) साउथ कैरोलीना, यूएसए ने विश्वगुरु का सम्मान प्रदान किया था।


मैट्स यूनिवर्सिटी के कुलपति 

मैट्स यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. के.पी. यादव ने विश्व  के अनेक देशों  नाइजीरिया, टोगो, घाना, केन्या  आदि के शोधार्थियों को अमेरिका की किंगडम लाइफ क्रिश्चियन यूनिवर्सिटी के बैनर तले आयोजित ऑनलाइन कक्षाओं में शोध की बारीकियों से निरंतर अवगत कराते है। प्रो. यादव यसबड यूनिवर्सिटी, जाम्बिया, साउथ अफ्रिक्रा के शोधार्थियों को भी मार्गदर्शन प्रदान करते हैं।
कुलपति प्रो. के.पी. यादव  द्वारा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ राज्य एवं भारत का प्रतिनिधित्व किया जा रहा है।

यादव राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नेक), अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद, एआईसीटीई (भारत सरकार), आईसीएआर, बार काउंसिल ऑफ इंडिया तथा लोक सेवा आयोग की विशेषज्ञ समिति के सदस्य के रूप में भी अपनी सेवाएँ देते रहे हैं। उन्होंने कम्प्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक्स, पर्यावरण के क्षेत्र में अब तक 20 किताबें लिखी हैं तथा राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 140 से भी ज्यादा शोध पत्र प्रकाशित व प्रस्तुत किये हैं। उन्हें 12 पेटेंट व कॉपीराइट प्राप्त हुए हैं।

शिक्षा के क्षेत्र में उनकी राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर  पर उपलब्धियों  तथा विश्व स्तर पर ज्ञान प्रदान करने के  प्रयासों को यूनिवर्सिटी आफ सेंट्रल अमेरिका ने महत्व प्रदान  करते  हुए डी.लिट की उपाधि से  सम्मानित किया है। प्रो. के.पी. यादव जी की इस उपलब्धि पर मैट्स यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति गजराज पगारिया, महानिदेशक प्रियेश पगारिया, उपकुलपति डॉ. दीपिका ढांढ, कुलसचिव  गोकुलानंदा पंडा सहित विश्वविद्यालय परिवार ने हर्ष व्यक्त कर अपनी शुभकामनाएँ दी हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button