खंडित आरक्षण होगा समाप्त – जोगी

रायपुर : जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा है कि हमारी सरकार छत्तीसगढ़ में बनाने के लिए जनता कमर कस रही है और हमें जनता पर भरोसा है कि हमारी सरकार अवश्य बनेगी और बहन सुमायावती केन्द्र में प्रधानमंत्री बनकर सत्ता में बैठेगी। जनता ने निर्णय ले लिया है कि छत्तीसगढ़ की जनता अब समझने लग गयी है कि समाजिक सोच रखने वाले कौन नेता है। जोगी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में आरक्षण के हकदार समाज आरक्षण से वंचित नही रहेगा और हम खंडित आरक्षण को समाप्त करेगें। भाजपा और कांग्रेस घोर आरक्षण विरोधी है और जनता के साथ मजाक किया है।

कई समाज ऐसे है जिनका खंडित आरक्षण के कारण यथा उचित विकास नही हो पाया है। जिसमे धोबी समाज जो कई राज्यों में अनुसूचित जाति में आते है और उत्तरप्रदेश में 12 विधायक है जबकि यही समाज छत्तीसगढ़ में अन्य पिछड़ा वर्ग है जिनका एक भी विधायक नही है। इसी प्रकार से ढीमर, केवट, मंाझी, पनिका, गढ़रिया, पाल, धनगर, मानिकपुरी, यादव, देवांगन, बुनकर, नमोशुद्र आदि ऐसे अनेक जातियां है जो खंडित आरक्षण को समाप्त करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार की दरवाजा खटखटा चुके है और संघर्ष कर रहे है।

जोगी ने जोर देकर कहा हमने अपने अल्प कार्यकाल में केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजा था परन्तु केन्द्र में भाजपा की सरकार बैठी थी। जो 18 बिन्दु की जानकारी मांगकर इस महत्वपूर्ण प्रस्ताव को खटाई मंें डाल दी, फिर भी हमने 18 बिन्दु की जानकारी भेजने के लिए सभी जिला कलेक्टरो को निर्देशित किया था। परन्तु राज्य में सत्ता परिवर्तन हुआ और जैसे ही भाजपा सत्ता में आयी सर्वे का कार्य रोक दिया गया, और आज भी यह पवनी, पसारी वाली मेहनतकश समाज खंडित आरक्षण से जूझ रहे है। उक्त बाते पिछड़ा वर्ग नेता व पार्टी महासचिव सूरज निर्मलकर की प्रेरणा में आयोजित अति पिछड़ा वर्ग के प्रादेशिक बैठक में पार्टी प्रवेश करने वाले पिछड़ा वर्ग नेताओ को आश्वस्त करते हुए जोगी ने पार्टी कार्यालय में कही।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए अति पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रभारी सूरज निर्मलकर ने पार्टी प्रवेश करने वालो को बधाई देते हुये कहा भाजपा-कांग्रेस घमंडी नेताओ का जमावड़ा हो गया है और छत्तीसगढ़ में काफी लंबे समय से इन दोनो पार्टी की विकल्प की तलाश उपेक्षित समाज के लोगो को थी जो जोगी जी पूरा कर रहे है और हम सब को नागर जोतता किसान बन जाना है। पार्टी प्रवेश करने वालो मे प्रमुख रूप से जनपद सदस्य भानूप्रिय बाघ, रोहित वर्मा, संतोष कन्नौजे, एस.राम देवागन, मोहित कुमार तरार, शकुन्तला हिरवानी, पुनित राम निषाद, शीतल दास मानिकपुरी, कुंजराम पाल, संतोष धनगर, आशिष ओझा, बुलउवा राम निर्मलकर, मेहतरू पाल, सोनउ यादव आदि अनेक सैकड़ो भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता व किसान नेता शामिल हुये।

Back to top button