क्या रंजन गोगोई होंगे मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के उत्तराधिकारी?

रंजन गोगोई ने 3 अन्य न्यायाधीशों के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में न्यायपालिका के भीतर के कामकाज पर प्रश्र उठाए

नई दिल्ली: अटकलबाजियां जोरों पर हैं कि क्या उच्चतम न्यायालय के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश रंजन गोगोई 2 अक्तूबर को सेवानिवृत्त हो रहे मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के उत्तराधिकारी होंगे। इस संबंधी उस समय अनिश्चितता पैदा हुई जब रंजन गोगोई ने 3 अन्य न्यायाधीशों के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में न्यायपालिका के भीतर के कामकाज पर प्रश्र उठाए।

यद्यपि गोगोई प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे, मगर सारा काम जस्टिस चेलमेश्वर और अन्य जजों ने किया। गोगोई की प्रेस कॉन्फ्रैंस में अभूतपूर्व मौजूदगी ने ही उनके जस्टिस मिश्रा के उत्तराधिकारी बनने बारे शंका पैदा कर दी। विशेषकर उस समय जब जस्टिस लोहिया की याचिका की सुनवाई का काम एक विशेष पीठ को देने की पृष्ठभूमि में यह प्रैस कॉन्फ्रैंस हुई थी।

जस्टिस चेलमेश्वर जून में सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उनके बाद गोगोई ही सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश हैं। 1977 के बाद से वरिष्ठता प्रक्रिया को अपनाया जा रहा है। उत्तराधिकारी की प्रक्रिया में उस समय विवाद उठा जब मौजूदा मुख्य न्यायाधीश मिश्रा द्वारा सरकार को लिखे एक पत्र में अपने उत्तराधिकारी के नाम की सिफारिश की गई। सरकार इस पत्र के आधार पर आगे कार्रवाई करेगी।

Back to top button