सखी वन स्टॉप सेन्टर के प्रयास से भटकती महिला को परिवारजनों से मिलवाने की कवायद शुरू

कलेक्टर ने सखी सेन्टर के पहल की सराहना की, कहा-प्रशासकीय दायित्वों के साथ-साथ मानवीय दृष्टिकोण के पक्ष को भी प्राथमिकता दें अधिकारी

बलरामपुर 13 जून 2021 : मानवीय संवेदनशीलता का परिचय देते हुए और अपने दायित्वों का निर्वहन कर जिले के सखी वन स्टॉप सेंटर ने सराहनीय पहल की है। व्हाट्सअप पर प्राप्त सूचना के अनुसार जिले के कुसमी विकासखण्ड के ग्राम गजााधरपुर में मानसिक असंतुलन के कारण महिला के भटकने की जानकारी प्राप्त हुई थी। जिला कार्यक्रम अधिकारी को सूचना मिलने पर सखी वन स्टॉप सेंटर के केन्द्र प्रशासक को निर्देशित किया कि महिला को तत्काल रेस्क्यू कर सहायता पहुंचाई जाए।

केन्द्र प्रशासक मंजू जायसवाल और उनकी टीम द्वारा भटकती हुई महिला को सखी वन स्टॉप सेंटर के केन्द्र में लाया गया। पूछताछ करने पर महिला ने बताया कि उसका नाम रंभा झरिया है और रायगढ़ जिले के घरघोड़ा थाना अंतर्गत बरौद की रहने वाली है। महिला ने अपने घर वापस जाने की इच्छा जताई है, जिस पर सखी वन स्टॉप सेंटर द्वारा पुलिस के माध्यम से जानकारी एकत्रित की जा रही है ताकि शीघ्र ही महिला को उनके परिजनों से मिलाया जा सके।

सखी वन स्टॉप सेंटर 

कलेक्टर इंद्रजीत सिंह चन्द्रवाल ने सखी वन स्टॉप सेंटर के उक्त कार्य की सराहना की है और अधिकारियों से प्रशासकीय दायित्वों के साथ-साथ मानवीय दृष्टिकोण के पक्ष को भी प्राथमिकता देने की बात कही है। त्वरित सूचना के आदान-प्रदान के इस दौर में अधिकारियों की संवेदनशीलता, सजगता व तत्परता से ऐसे प्रकरणों में सफलता पाई जा सकती है।

उन्होंने कहा कि ऐसे संवेदनशील मामलों में मानवीय दायित्वों के निर्वहन से प्रशासन के प्रति लोगों का विश्वास और सुदृढ़ होता है। साथ ही कलेक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देशित कर महिला के समूचित व्यवस्था तथा परिजनों से मिलवाने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

Tags
Back to top button