छत्तीसगढ़

खनन के साथ ही पर्यावरण की सुरक्षा पर भी करें मनन : प्राचार्य

रायपुर : खनन के साथ ही हम पर्यावरण की सुरक्षा पर भी मनन करें। गुरुवार को ये बातें मैट्स यूनिवर्सिटी की कार्यशाला में अभियांत्रिकी विभाग के प्राचार्य डॉ उदय कुमार ने कही। उन्होंने आगे कहा कि खनन अभियांत्रिकी आम आदमी से जुड़ा हुआ विषय है और रोजमर्रा के जीवन में मिनरल्स की उपयोगिता को हम नकार नहीं सकते।विभागाध्यक्ष डॉ भार्गव आयंगर ने गुरुवार को कहा कि खनन विभाग इस तरह की कार्यशाला विगत 3 वर्षो से करता आ रहा है। कार्यशाला का उद्देश्य खनन अभियांत्रिकी में पढ़ रहे छात्र गैस टेस्टिंग की परीक्षा सफलता पूर्वक उत्तीर्ण कर सकें और खान गैस के बारे में ज्यादा से ज्यादा जान सकें । छात्रों को भविष्य में एक अच्छा खनन अभियंता बनाना है।

किसने क्या कहा : वक्ता के रूप में उपस्थित रहे सहायक प्रबंधक लाफार्ज सीमेंट राहुल राय ने ओपन कास्ट माइन के बारे में विस्तार से दृश्य श्रवण के माध्यम से समझाया। खनन विभाग के वरिष्ठ छात्र सत्यजित सिंह और अक्षय दहले ने छात्रों को गैस टेस्टिंग की परीक्षा के समय पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके सटीक उत्तर के बारे में जानकारी दी। कार्यशाला से सम्बंधित लिखित और मौखिक प्रश्नोत्तरी किया गया, जिसमेें इन 3 दिनों में सीखे गए ज्ञान का आंकलन किया जा सके। सभी छात्रों ने बहुत ही अच्छे से सभी प्रश्नों का जवाब दिया और अपनी जिज्ञासा पूर किया। कार्यशाला के समाप्ति पर सभी छात्रों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। कार्यशाला को सफल बनाने में खनन अभियांत्रिकी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर सोमनाथ ऋषि और घनश्याम रजक तथा कार्यशाला सहायक मनोज साहू का विशेष योगदान रहा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button