विदेशी चुनाव प्रतिनिधि और सांसद बने भारतीय चुनावी प्रक्रिया के गवाह

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 59 सीटों पर मतदान के साथ ही देश की 484 सीटों पर चुनाव पूरा हो गया है. रविवार को कुल 63.43 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाले. पश्चिम बंगाल और यूपी में कुछ जगहों से हिंसा की खबर भी आई.

साथ ही विदेशी चुनाव प्रतिनिधि और सांसद राष्ट्रीय राजधानी में भारतीय चुनावी प्रक्रिया और इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों के इस्तेमाल के गवाह बने. रूस के केन्द्रीय चुनाव आयोग के सदस्य ईए शेवचेंको ने कहा कि उन्होंने दिल्ली में 12 मतदान केन्द्रों का दौरा किया और चुनाव पर्यवेक्षकों से बात की.

उन्होंने कहा कि ईवीएम के बारे में जानना रुचिकर रहा. विदेशी प्रतिनिधिमंडल में म्यामां, भूटान, कंबोडिया, रूस, बोस्निया, बांग्लादेश, केन्या, मेक्सिको, मलेशिया, श्रीलंका और अन्य देशों के अधिकारी शामिल थे.

रूसी अधिकारी शेवचेंको ने कहा, ‘‘हमें नयी मशीनें देखीं और हमने जो देखा वह अच्छा लगा. हमने उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली क्षेत्रों का दौरा किया और ईवीएम के बारे में जानना रुचिकर रहा और हमने सीखा कि हर व्यक्ति को पता चलता है कि उसका वोट पड़ गया है.

शेवचेंको ने कहा कि रूस में जो मशीनें हैं, वे पहचान पत्र दस्तावेज के रूप में पासपोर्ट को स्वीकार करती हैं और ये बायोमैट्रिक्स आधारित हैं. उन्होंने कहा कि वे मशीनें ईवीएम की तरह ही हैं. अधिकारी ने कहा कि रूस में चुनाव एक दिन में हो जाता है, इसमें कई चरण का समय नहीं लगता.

Back to top button