सरकारी जमीन पर लगाई आंबेडकर प्रतिमा, शिकायत पर पहुंची पुलिस पर हमला

आरोप है कि कुछ लोगों ने अवैध तरीके से वहां आंबेडकर की प्रतिमा लगाई थी

सरकारी जमीन पर लगाई आंबेडकर प्रतिमा, शिकायत पर पहुंची पुलिस पर हमला

अलवर
राजस्थान के अलवर जिले में दो पक्षों के बीच जमकर झगड़ा हुआ। झगड़ा सहजपुर गांव में आंबेडकर की प्रतिमा लगाए जाने को लेकर हुआ। कुछ लोगों ने वहां आंबेडकर की प्रतिमा लगाई तो वहीं दूसरे ग्रुप ने इसे अवैध बताया। विवाद इतना बढ़ा की दोनों पक्षों में हाथापाई हो गई। मामला शांत कराने पहुंची पुलिस की भी पिटाई की गई।

आरोप है कि कुछ लोगों ने अवैध तरीके से वहां आंबेडकर की प्रतिमा लगाई थी। विवाद की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने आंबेडकर की प्रतिमा हटाने का प्रयास किया। जिसके बाद मौके पर लोगों की भीड़ पहुंची और उन्होंने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। प्रदर्शन होने पर भी जब पुलिस पर कोई दबाव हीं पड़ा तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया।

आरोप है कि भीड़ के लोगों ने पुलिस की डंडे से भी पिटाई की। इसमें एक महिला पुलिस समेत 6 पुलिसवालों को चोटें आई हैं। इस हमले के बाद पुलिस को भीड़ नियंत्रित करने और लोगों को शांत कराने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। पुलिस ने इस मामले में उपद्रवियों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की।

इधर दलित समुदाय के नेताओं ने उन पुलिसवालों पर कार्रवाई की मांग की जिन्होंने आंबेडकर की प्रतिमा हटाने का प्रयास किया। ऐसे पुलिसवालों के निलंबन की मांग भी दलित नेताओं ने की। उन्होंने प्रदर्शन कर मांग की कि प्रदर्शनकारियों पर दर्ज की गई एफआईआर भी वापस की जाए।

रामगढ़ के विधायक ज्ञान दे अहूजा भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने दलित समुदाय के सदस्यों से बात की। विधायक ने उन लोगों को आश्वासन दिया कि वह खुद उनकी मांगों को लेकर जिला प्रशासन और पुलिस विभाग के अधिकारियों से बात करेंगे। उन्होंने आंबेडकर की प्रतिमा वहां वापस लगवाने का भी आश्वासन दिया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि इस मामले में 10 उपद्रवियों के खिलाफ पुलिस पर हमला करने और कानून व्यवस्था भंग करने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि गांव में एक आंबेडकर की प्रतिमा स्थापित की गई है। जब पुलिस वहां पहुंची तो तो जांच में पता चला कि मूर्ति सरकारी जमीन पर लगाई गई है। मूर्ति लगाने के लिए उनके पास कोई अनुमति भी नहीं थी।

पुलिस ने उन लोगों को समझाने का प्रयास किया और उनसे मूर्ति हटाने को कहा। इतने पर ही वहां एकत्र लोगों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। जिससे पुलिसवालों को चोटें आईं हैं। पुलिस को मजबूरी में लाठीचार्ज करना पड़ा।

Back to top button