छत्तीसगढ़

शादी समारोह में गई महिला ने DKS में तोड़ा दम, पैसे के अभाव में हॉस्पिटल प्रबंधन ने बनाया है शव को बंधक

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने की मदद 

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

संवाददाता: शिव चौरासिया

  • हॉस्पिटल प्रबंधन ने थमाया लंबा बिल तो , उसका पति भटक रहा है दर-दर अपनी पत्नी के शव को पाने
  • राजधानी के मशहूर हॉस्पिटल डी के एस ने इस गरीब परिवार को 49000 का बिल थमाया है
  • परिवार के पास फूटी कौड़ी नहीं कैसे लाए अपने पत्नी के शव को वापस अपने घर

बलरामपुर : बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत ककनेशा निवासी सोनसाय की पत्नी जगमन गोड़ शादी समारोह में जनकपुर गई थी जहां से अपने रिश्तेदार के साथ बाइक से वापस घर आते वक्त ग्राम पंचायत जनकपुर के पास वाड्रफनगर- बलंगी मार्ग में बने स्पीड ब्रेकर में बाइक से दूर फेंका गई जिससे उसको गंभीर चोटें आई जिसका त्वरित इलाज के लिए रघुनाथनगर सामुदायिक हॉस्पिटल में लाया गया जहां उसकी स्थिति बेहद नाजुक होने के कारण तत्काल उसे वाड्रफनगर रेफर किया गया

शादी समारोह में गई महिला ने DKS में तोड़ा दम, पैसे के अभाव में हॉस्पिटल प्रबंधन ने बनाया है शव को बंधक

अंबिकापुर हॉस्पिटल रेफर

जहां चिकित्सकों के द्वारा चोट गंभीर होने की वजह से अंबिकापुर हॉस्पिटल रेफर किया गया वहां भी स्थिति में सुधार ना होता देख उसे तत्काल रायपुर के मेकाहारा हॉस्पिटल में भेजा गया जहां जांच के उपरांत जगमन गोड़ को डी के एस रायपुर के मशहूर हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया परंतु वहां स्थिति सामान्य होने से पहले ही जगमन ने दम तोड़ दिया, लेकिन अस्पताल प्रबंधन के द्वारा इस परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करने की बजाय ₹49000 का बिल थमा दिया गया जहां एक और परिवार ने अपने एक सदस्य को खो दिया वही अब स्थिति परिवार की ठीक ना होने की वजह से बाकी सदस्य भूखों मरने की नौबत में आ जाएंगे,

शादी समारोह में गई महिला ने DKS में तोड़ा दम, पैसे के अभाव में हॉस्पिटल प्रबंधन ने बनाया है शव को बंधक

जगमन का परिवार बेहद गरीब एवं असहाय है यहां तक कि इस परिवार का राशन कार्ड भी नहीं बना है जगमन का पति गांव से दूर जाकर मजदूरी करके अपने परिवार का गुजारा करता है यही कारण है कि इस परिवार का राशन कार्ड नहीं बन पाया है और आज स्थिति ऐसी बन गई है कि जगमन का मृत शरीर भी उनके घर वालों को शायद ही नसीब हो पाए क्योंकि डीकेएस हॉस्पिटल का बिल इतना ज्यादा है कि यह परिवार चुका पाने में असमर्थ है हॉस्पिटल प्रबंधन के द्वारा बगैर बिल भुगतान के शव परिजनों को सौंपने से मना किया जा रहा था

शादी समारोह में गई महिला ने DKS में तोड़ा दम, पैसे के अभाव में हॉस्पिटल प्रबंधन ने बनाया है शव को बंधक

जगमन का पति पैसे की तलाश में दर-दर भटक रहा है मदद की गुहार लगा रहा है पर इस कोरोना काल में इस गरीब परिवार का मदद करने वाला कोई नहीं है बमुश्किल अगर हॉस्पिटल प्रबंधन शव परिजनों को सौंप भी दे तब भी उसको घर तक लाने की मजबूरी होगी एंबुलेंस का खर्च तक उठा पाने में असमर्थ है परिवार।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने की मदद 

इस गंभीर विषय को लेकर प्रदेश के स्वास्थ मंत्री टीएस सिंह देव से भी मदद के लिए संपर्क किया गया, वही क्षेत्रीय विधायक एवं शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय के काम से भी मदद की गुहार लगाई जा रही है

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव के मदद के बाद अस्पताल प्रबंधन ने महिला के शव की रिलीज़ किया..

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button