राष्ट्रीय

जयपुर में बलात्कार का मामला दर्ज कराने वाली महिला की मौत

जली हुई हालत में दिवाली के दिन अस्पताल में कराया गया था भर्ती

जयपुर: जली हुई हालत में दिवाली के दिन अस्पताल में भर्ती बलात्कार की पीडिता महिला ने राजस्थान की राजधानी जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में अंतिम सांस ली. अस्पताल में मौत के बाद महिला का पोस्टमार्टम किया गया. इसके बाद उनका क्रियाकर्म कर दिया गया. पीड़ित महिला 50 फीसदी से ज्यादा जल चुकी थी.

महिला ने मरने से पहले दिए गए बयान में आरोप लगाया था कि दिवाली के दिन उनके घर लेखराज नाम का व्यक्ति घुस आया था और उस पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसको आग लगा दी थी. लेखराज के खिलाफ महिला ने बीते अप्रैल माह में लॉकडाउन के दौरान ही जयपुर कोतवाली में रेप की एफआईआर दर्ज कराई थी.

उस समय महिला ने आरोप लगाया था कि लेखराज ने नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ बलात्कार किया था. और वीडियो क्लिपिंग्स बनाकर उसे ब्लैकमेल करता रहता था. तभी अप्रैल में आरोपी लेखराज के खिलाफ महिला ने कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवाई थी. लेकिन पुलिस आरोपी लेखराज को उस समय गिरफ्तार नहीं कर पाई थी.

कोतवाली के एसएचओ यशवंत सिंह ने आज तक से कहा, “हत्या की धारा (धारा 302) महिला की मौत के बाद स्वत: ही एफआईआर में जुड़ गई है. भारतीय दंड संहिता की धाराएं 34, 307 और 452 के तहत पहले ही एफआईआर दर्ज थी.” पुलिस के मुताबिक इस मामले में कुल चार आरोपी हैं. जिसमें मुख्य आरोपी लेखराज के अलावा उसके दो भाई और पिता भी शामिल हैं.

एसएचओ यशवंत सिंह ने बताया कि पीड़िता ने मुकदमा दर्ज कराया था कि आरोपी लेखराज उसके साथ बलात्कार किया था. इस मामले में एफआईआर दर्ज हो गई थी. एफआईआर दर्ज होते ही मुलजिम लेखराज फरार हो गया था. उसके बाद वो अपने घर नहीं आया. और ना ही आसपास के रिश्तेदार के यहां गया. अभी अचानक दिवाली के दिन वो पीड़िता के घर पहुंच गया.

उसने महिला पर कोई ज्वलनशील पदार्थ डाल दिया और उसे जिंदा आग के दवाले कर दिया. एसएचओ के मुताबिक आरोपी लेखराज महिला का पड़ोसी है. वह पीड़िता से दो मकान छोड़कर तीसरे घर में रहता है. उसके अन्य परिजन भी वहीं रहते हैं.

उसके आने की सूचना मिलते ही पुलिस ने दबिश दी और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. तीन अन्य दोषियों को भी गिरफ्तार किया गया है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button