क्राइमबड़ी खबरमनोरंजन

महिला का दावा- वह जानती है सुशांत की मौत से जुड़े कई राज, इंदौर पुलिस से मांगी सुरक्षा

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में महत्वपूर्ण जानकारी रखने का दावा करने वाली एक महिला ने इंदौर पहुंचकर स्थानीय पुलिस से सुरक्षा मांगी है। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणाचारी मिश्रा ने बताया कि मुंबई में रहने वाली एक महिला हाल ही में मुझसे मिली।

इंदौर: सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में महत्वपूर्ण जानकारी रखने का दावा करने वाली एक महिला ने इंदौर पहुंचकर स्थानीय पुलिस से सुरक्षा मांगी है। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणाचारी मिश्रा ने बताया कि मुंबई में रहने वाली एक महिला हाल ही में मुझसे मिली।

उसका कहना है कि वह राजपूत को लंबे समय से जानती रही है और उनकी मौत के मामले में उसके पास महत्वपूर्ण जानकारी है। उसने कहा कि मांगे जाने पर वह संबंधित मंच के सामने इसका तथ्यात्मक ब्योरा पेश करेंगी। डीआईजी ने महिला की पहचान का खुलासा किए बगैर बताया कि फिलहाल वह अपने करीबी संबंधियों के साथ इंदौर में रह रही है और उसने कुछ समय तक यहीं निवास की इच्छा जताई है।

उन्होंने बताया कि महिला ने हमारे सामने अपनी सुरक्षा संबंधी कुछ आवश्यकताएं रखी हैं। हमने उसे आश्वस्त किया है कि जरूरत पड़ने पर उसे तत्काल पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। डीआईजी ने बताया कि जरूरत पड़ने पर महिला की मदद के लिए उन्होंने संबंधित पुलिस अफसरों को निर्देश दिए हैं। उसके निवास स्थान के पास गश्त करने वाले पुलिस वाहनों में तैनात कर्मचारियों को भी इस बारे में सूचना दे दी गई है।

पुलिस के एक अन्य अफसर ने बताया कि सुशांत मामले में समाचार चैनलों की बहस में शामिल होने वाली महिला ने अपना फेसबुक खाता हैक किए जाने की शिकायत भी की है। अफसर ने बताया कि पुलिस का साइबर दस्ता इस शिकायत की जांच कर रहा है।

“एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी”, “शुद्ध देसी रोमांस”, “राब्ता” और “छिछोरे” जैसी हिन्दी फिल्मों में अभिनय के लिए मशहूर राजपूत (34) मुंबई के उपनगर बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में 14 जून को मृत पाए गए थे। दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के अपराध विज्ञान विभाग के प्रमुख डॉ. सुधीर गुप्ता ने पिछले सप्ताह कहा था कि मेडिकल बोर्ड ने अभिनेता की मौत के विषय में हत्या से इनकार किया है और इसे फांसी लगाकर आत्महत्या का मामला करार दिया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button