राष्ट्रीय

महिलाएं हाथों में फावड़ा, बेलचा लेकर निकली जानिए आखिर क्या हुआ ?

असम: नलबाडी । सरकार की विकास योजनाओं का खोखला स्वरूप रविवार को नलबाड़ी बालिलेछा के सुतारकुछी गांव में देखने को मिला । उल्लेखनीय है कि इस गांव की महिलाओं के एक दल ने हाथों में फाबडा, बेलचा लेकर ठेला चलाकर गांव की सड़क को मरम्मत करने निकल पड़ी ।

गांव की मुख्य सड़क को पिछले कई वर्षों से निर्माण व मरम्मत न करने के चलते यातायात व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। बरसात के दिनों में दो-दो फीट तक पानी भर जाने वाली इस सड़क से स्कूल कॉलेज के छात्र-छात्रा व गांव वासियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

गांववासियों द्वारा स्थानीय विधायक को बार-बार गुहार लगाने पर भी कोई परिणाम नहींनिकला । अंत में थक हार का गांव की महिलाओं ने ही अपनी जमा पूंजी खर्च कर सड़क खुद शारीरिक श्रम देकर सड़क पर मिट्टी पत्थर आदि बिछाकर सड़क की मरम्मत की तथा सड़क को आने-जाने के लायक बनाया ।

उल्लेखनीय है कि परिवर्तन व अच्छे दिन का वादा कर सत्ता में अपने वाली भाजपा सरकार के विधायक पिछले दो वर्ष में गांव वासियों की एक दफे भी सुध नहीं ली।

Summary
Review Date
Reviewed Item
महिलाएं हाथों
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *