शौचालय नहीं तो ससुर और देवर पर बहु ने किया केस

स्वच्छ भारत अभियान का असर अब गांवों में दिखने लगा है. 5 सालों से खुले में शौच के लिए जा रही बहु आखिरकार तंक आकर थाने पहुंच गई. बहु ने अपनी शिकायत में पुलिस के सामने बयान दिया कि पिछले 5 सालों से जो जिल्लत वह हर सुबह झेल रही है उसको बयां नहीं कर सकती.

मुजफ्फरपुर की यह कहानी रंगीला देवी की है. मीनापुर ब्लॉक के छेगन नेउरा गांव की रंगीला देवी की शादी 2012 में करजा थाने के सुनील से हुई.

पिछले दिनों रंगीला देवी अचानक थाने पहुंचीं और शिकायत करते हुए कहा कि घर में शौचालय न होने के कारण उन्हें रोज खुले में शौच के लिए जाना पड़ता है और दौरान उन्हें लोगों की बदनीयत नजरों को झेलना और सहना पड़ता है.

पुलिस को दिए बयान में रंगीला देवी ने कहा है, “शौचालय न होने के कारण उन्हें अक्सर मायके में रहना पड़ता है. पति बाहर काम करते हैं. जब वह आते तो ससुराल आना पड़ता है. पति से बार-बार शिकायत करने पर वह घरवालों के भरोसे शौचालय बनवाने काम छोड़ देते हैं. घर में इसको लेकर आवाज उठाने पर प्रताड़ित किया जाता है.”

पुलिस ने तुरंत रंगीला देवी की शिकायत पर उनके ससुर और देवर पर मामला दर्ज कर लिया है और कार्रवाई शुरू कर दी है. लेकिन ससुर और देवर ने जब पुलिस के सामने घर में जल्द से जल्द शौचालय बनवाने का बांड भरा तब रंगीला देवी ने अपनी शिकायत वापस ले ली.

Back to top button