स्वसहायता समूह की महिलाओं ने जाना कानूनों और साक्षर भारत कार्यक्रम के बारे में

रायपुर।

हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आईं महिला स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों को सरकार की विभिन्न योजनाओं, कानूनों और साक्षर भारत कार्यक्रम की जानकारी दी गई। योजना के आवासीय परिसर, नया रायपुर के उपरवारा स्थित होटल प्रबंधन संस्थान में स्वसहायता समूह की महिलाओं ने समूह चर्चा और प्रशिक्षण में हिस्सा लिया।

हमर छत्तीसगढ़ योजना में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) के अंतर्गत गठित महिला स्वसहायता समूहों के ग्राम संगठन एवं संकुल संगठन की 628 पदाधिकारी अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आई हुई हैं। इनमें बस्तर, नारायणपुर, सरगुजा, रायपुर और धमतरी जिले की महिलाएं शामिल हैं।

साक्षर भारत मिशन की मास्टर ट्रेनर अंजुम शेख ने अध्ययन भ्रमण पर आई महिलाओं को साक्षर भारत कार्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने महिलाओं को स्वयं पढ़ने-लिखने के साथ ही परिवार को भी शिक्षित करने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने बताया कि पारिवारिक जिम्मेदारियों, घरेलू दिक्कतों या अन्य किसी कारण से जिन महिलाओं की पढ़ाई बीच में छूट गई है, वे साक्षरता केन्द्र के माध्यम से अपनी पढ़ाई पूरी कर सकती हैं। शेख ने स्वसहायता समूह की पदाधिकारियों को डिजिटल साक्षरता, राजनीतिक साक्षरता एवं वित्तीय साक्षरता के बारे में भी बताया।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास विस्तार अधिकारी जेके मिश्रा ने महिलाओं को राज्य एवं केन्द्र सरकार की योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने हमर छत्तीसगढ़ योजना के उद्देश्यों एवं भ्रमण स्थलों के बारे में बताया।

रायपुर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ता शाहिर लुधियानवी खान ने स्वसहायता समूह की महिलाओं को लोक अदालत में मामलों के आपसी राजीनामे से निपटारे के बारे में बताया। उन्होंने पॉक्सो एक्ट के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी।

Back to top button