त्यौहारों के समय बढ़ती महंगाई से महिलाएं परेशान : फूलोदेवी नेताम

मोदी सरकार बढ़ती हुए महंगाई पर नियंत्रण करने में फेल हो गई है

महंगाई और बेरोजगारी आम लोगों को जीने नहीं दे रही है

रायपुर/18 अक्टूबर 2021। पेट्रोलियम पदार्थ एवं खाद्य पदार्थ के बढ़ती हुई महंगाई पर राज्यसभा सांसद एवं महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया कि मोदी सरकार बढ़ती हुए महंगाई पर नियंत्रण करने में फेल हो गई है। मोदी ने जब से केन्द्र में बागडोर संभाला है तब से महंगाई ने पांव पसार लिये है। देश में कोरोना की मार के बाद आम आदमी बेरोज़गारी और महंगाई की दोहरी मार झेल रहा है।

रसोई गैस के दाम पिछले 6 महीने 140 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ चुके हैं। पेट्रोल की क़ीमत 104.28 पैसे हैं, खाने का तेल 200 रुपये लीटर है, प्याज 50 रुपये किलो, टमाटर 70 से 80 रुपये किलो ऐसे में आम आदमी बीजेपी सरकार से पूछ रही है कि बहुत हुई महंगाई की मार का नारा देकर सत्ता में आई मोदी सरकार महंगाई पर कोई लगाम क्यों नहीं लगा पा रही?

महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने कहा

राज्यसभा सांसद एवं महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने कहा कि त्यौहारों के इस सीजन में आम आदमी को महंगाई ने बुरी तरह से पस्त कर दिया है। सबसे ज्यादा महिलाओं को परेशानी हो रहा है, रसोई गैस सिलेंडर की तेजी से बढ़ती कीमतों ने गरीब परिवारों को वापस रसोई के लिए चूल्हे, सिगड़ी की तरफ मोड़ दिया है। चुनाव के समय नरेंद्र मोदी माताओं, बहनों की आंखों में आंसू नहीं लाने का वादा करते है फिर सत्ता में आ जाने के बाद प्रतिदिन महिला बहनों को रूलाने का काम करते है।

महंगाई के कारण देश के कई हिस्सों में रसोई गैस सिलेंडर की खपत में करीब 30 प्रतिशत तक कमी आई है, वही उज्ज्वला योजना में 90 प्रतिशत लाभान्वित सिलेंडर रिफिलिंग नहीं करवा रहे है। ये है उज्ज्वला योजना का बहुत अधिक प्रचार-प्रसार किया था लेकिन हर योजना के तरह उज्ज्वला योजना भी फ्लाप हो गयी।

राज्यसभा सांसद एवं महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम ने कहा कि देश विकास के तरफ नहीं विनाश की ओर बढ़ रहा है नरेंद्र मोदी के गलत नीति के कारण महंगाई बेलगाम हो गया है और भाजपा के नेता हाथ में हाथ धरे बैठे है। महंगाई से सभी त्रस्त है लेकिन अंध भक्तों को बेलगाम महंगाई दिखाई नहीं दे रहा है ऐसा लगता है कि अंधेर नगरी हो गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button