महिला क्रिकेट टीम : इंग्लैंड ने भारत को 7 विकेट से हराया, मंधाना ने खेली शानदार पारी

मेहमान टीम ने आठ गेंद रहते ही यह लक्ष्य हासिल किया

मुंबई: सलामी बल्लेबाज डेनियली वाट के तेज तर्रार शतक की बदौलत इंग्लैंड महिला टीम ने आज यहां टी-20 त्रिकोणीय सीरीज के दूसरे मैच में रिकार्ड लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को सात विकेट से शिकस्त दी। सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (40 गंद में 76 रन) और मिताली राज (43 गेंद में 53 रन) की मदद से मेजबान टीम ने 20 ओवर में चार विकेट गंवाकर 198 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया जो टी-20 में भारत का सबसे बड़ा स्कोर भी है। लेकिन, डेनियली की 64 गेंद में 15 चौके और पांच गगनचुंबी छक्के जडि़त 124 रन की शानदार पारी से मेहमान टीम ने आठ गेंद रहते ही यह लक्ष्य हासिल कर लिया।

इंग्लैंड ने सबसे बड़ा टारगेट हासिल किया

इंग्लैंड की टीम ने इस जीत के साथ ही टी-20 में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल किया है। इससे पहले महिला टी-20 अंतरराष्ट्रीय में सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा करने का गौरव भी इंग्लैंड के ही नाम था जिसने 2017 में कैनबरा में आस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐसा किया था। डेनियली ने पहले ही ओवर में तीन चौके जड़कर अपने इरादे जाहिर कर दिए। तेज चौकों और छक्कों की मदद से उन्होंने ब्रायोनी स्मिथ (15) के साथ 61 रन की भागीदारी निभाई। इस सलामी बल्लेबाज ने किसी भी गेंदबाज को नहीं बख्शा और 24 गेंद में ही अपना अर्धशतक पूरा कर लिया और शतक बनाने में उन्होंने 52 गेंद का सामना किया। डेनियली के आउट होने के बाद नटाली स्किवर (नाबाद 12) और हीथर नाइट (नाबाद 08) ने इंग्लैंड को आराम से जीत दिलाई। भारतीय गेंदबाजों ने काफी रन लुटाए जिसमें खराब क्षेत्ररक्षण ने उनकी समस्या और बढ़ा दी।

इससे पहले मंधाना और मिताली ने इंग्लैंड की गेंदबाजों को आसानी से खेलते हुए पहले विकेट के लिए 129 रन की शानदार साझेदारी निभाई। इन दोनों ने लूज गेंदों पर शाट लगाए। आस्ट्रेलिया के खिलाफ 67 रन की पारी खेलने वाली मंधाना ने फिर शानदार फार्म दिखाई और छठे ओवर में तीन चौके जड़े जिससे पावरप्ले में टीम ने 52 रन बना लिए। फार्म में चल रही इस सलामी बल्लेबाज ने महज 25 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। मिताली ने भी फिर तेजी पकड़ी जिससे भारत का 10 ओवर में स्कोर 96 रन हो गया। मंधाना और मिताली के आउट होने के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर (22 गेंद में 30 रन) और पूजा वस्त्राकर (10 गेंद में 22 रन) ने टीम को 200 रन के करीब पहुंचाया। पूजा ने अंतिम ओवर में जेनी गुन पर चार चौके जमाए।

advt
Back to top button