सभी ग्राम पंचायतों के आश्रित ग्रामों में मनरेगा के कार्य तत्काल शुरू कराई जाए : कलेक्टर

लोक सुराज अभियान में प्राप्त आवेदन पत्रों का सकारात्मक निराकरण कराने के दिए निर्देश

राजनांदगांव : कलेक्टर भीम सिंह ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनान्तर्गत जिले के सभी ग्रामों में अनिवार्य रूप से रोजगार मूलक कार्य शुरू कराने के निर्देश जिले के सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को दिए हैं। कलेक्टर सिंह ने ग्रामीणों को रोजगार मुहैया कराने हेतु प्राथमिकता के साथ रोजगार मूलक कार्य स्वीकृत करने को कहा। उन्होंने जिले के सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को योजना बनाकर इस कार्य को पूरा करने के निर्देश भी दिए।

कलेक्टर भीम सिंह आज 24 मार्च को कलेक्टोरेट सभाकक्ष राजनांदगांव में आयोजित लोक सुराज अभियान एवं विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को उक्ताशय के निर्देश दिए हैं। बैठक में कलेक्टर सिंह ने लोक सुराज अभियान के कार्यों की समीक्षा करते हुए प्राप्त आवेदनों के निराकरण की स्थिति के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि लोक सुराज अभियान के अंतर्गत आवेदन पत्रों का सकारात्मक निराकरण किया जाना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने सभी विभाग के अधिकारियों को आवेदकों को समाधान शिविरों में उपस्थिति हेतु अनिवार्य रूप से सूचना देने के निर्देश भी दिए। इसके अलावा उन्होंने आवेदकों को उनके आवेदनों पर किए गए कार्रवाई की जानकारी भी अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने को कहा।

सिंह ने पूर्व सूचना के उपरांत भी आज की बैठक में कुछ विभाग के अधिकारियों की अनुपस्थिति पर गहरी नाराजगी जताई है। उन्होंने अनुपस्थित अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने एवं उनके विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित कराने के निर्देश भी दिए हैं। बैठक में अपर कलेक्टर जे.के. धु्रव एवं ओंकार यदु सहित वनमण्डलाधिकारी मोहम्मद शाहिद, आयुक्त नगर निगम अश्वनी देवांगन एवं विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर सिंह ने लोक सुराज अभियान के अंतर्गत आयोजित की जा रही समाधान शिविर के कार्यों की समीक्षा करते हुए सभी विभाग प्रमुखों को शिविरवार अपने-अपने विभाग से संबंधित जानकारियों को संबंधित पंचायत सचिवों को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। सिंह ने कहा कि आवेदन पत्रों का वास्तविक निराकरण कराना ही लोक सुराज अभियान का उद्देश्य है। सिंह ने जिले में बीमा योजना से संबंधित लंबित प्रकरणों की भी समीक्षा की। उन्होंने लीड बैंक मैनेजर जाधव को बीमा कंपनी के अधिकारियों को बुलाकर बीमा लंबित प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित कराने को निर्देश भी दिए। कलेक्टर ने पेयजल व्यवस्था के संबंध में जानकारी लेते हुए कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी रामटेके को पेयजल एवं निस्तारी हेतु पानी की समस्या का तत्काल निराकरण कराने के निर्देश भी दिए।

उन्होंने आवश्यकतानुसार हैण्डपंपों में राईजर पाईप बढ़ाने एवं समस्याओं के निराकरण हेतु समय रहते उपाय भी सुनिश्चित कराने को कहा। सिंह ने बताया कि जिले में पानी की परिवहन की आवश्यकता पडऩे पर शीघ्र उपाय सुनिश्चित कराने हेतु प्रत्येक जनपद पंचायतों में राशि दे दी गई है। उन्होंने अधिकारियों को स्थिति पर नजर रखने एवं आवश्यकता पडऩे पर तत्काल कदम उठाने के निर्देश भी दिए।

सिंह ने मनरेगा के कार्यों की समीक्षा करते हुए भवन विहीन खाद गोदाम एवं उचित मूल्य दुकान निर्माण तथा स्कूल समतलीकरण के कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने भवन विहीन शासकीय उचित मूल्य दुकान एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए तत्काल भवन स्वीकृत कराने के निर्देश भी दिए। सिंह ने अधीक्षण अभियंता छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कंपनी को विद्युतीकरण हेतु शेष रह गए सभी स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में तत्काल विद्युतीकरण कराने को कहा।

इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों के द्वारा प्रत्येक माह दो-दो ग्राम पंचायतों के निरीक्षण कार्य के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को प्रत्येक माह अनिवार्य रूप से दो-दो ग्राम पंचायतों का निरीक्षण कर निरीक्षण प्रतिवेदन भी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। सिंह ने इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के वेतन पर रोक लगाने व कार्रवाई भी सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। कलेक्टर ने अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम एस्ट्रोटर्फ मैदान में पानी व्यवस्था के संबंध में भी जानकारी ली।

उन्होंने आयुक्त नगर निगम एवं कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को पानी की समुचित व्यवस्था हेतु तत्काल उपाय सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने ग्राम पंचायतों में चल रहे निर्माण कार्यों के मूल्यांकन की समीक्षा करते हुए सभी कार्यों का 15 दिनों के भीतर अनिवार्य रूप से मूल्यांकन कराने को कहा। उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में निर्माण कार्यों के मूल्यांकन में विलंब नहीं होना चाहिए। सिंह ने आयुक्त नगर निगम को राजनांदगांव शहर वासियों को समुचित मात्रा में पेयजल एवं निस्तारी हेतु पानी उपलब्ध कराने हेतु वार्डवार कार्ययोजना बनाने के निर्देश भी दिए।

advt
Back to top button