मेघालय के कोयला खदान से 200 फीट नीचे मिला मजदूर का पहला शव

नौसेना को भारी मशक्कत के बाद 36 दिन बाद पहली सफलता मिली

शिलॉन्ग

मेघालय़ के अवैध कोयला खदान में फंसे 15 मजदूरों के रेस्क्यू के लिए उतरी नौसेना को एक मजदूर की लाश मिल गई है। मजदूर की लाश तकरीबन 200 फीट नीचे गहराई में मिली है। नौसेना को भारी मशक्कत के बाद 36 दिन बाद पहली सफलता मिली।

एक लाश मिलने के बाद नौसेना अब बाकी 14 लोगों को खोज रही है। पिछले साल 13 दिसंबर को कोयला खदान में खनिक के लिए उतरे थे। इस दौरान खदान में पानी भर गया, जिसकी वजह से 15 मजदूर खदान में फंस गए थे।

इसकी जानकारी मिलने के बाद नौसेना द्वारा सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है, और खनिजों को बाहर निकालने की कवायद की जा रही है। इसके लिए उच्च क्षमता वाले दो सबमर्सिबल पंपों के जरिए मुख्य शाफ्ट से पानी निकालने की कोशिश नाकाम रही थी।

नेवी के साथ ही एनडीआरएफ के गोताखोरों की भी इस अभियान में मदद ली जा रही थी। खनिकों के रेस्क्यू में मशक्कत कर रहे प्रशासन की मदद के लिए ओडिशा दमकल विभाग का एक दल भी यहां पहुंचा था। इस दल को बचाव कार्य के दौरान तीन हेल्मेट मिले थे।

advt
Back to top button