बिज़नेस

सांविधिक व्यवस्था की अपनी समझ के आधार पर काम कर रहे : एचपीसीएल

एचपीसीएल ने ओएनजीसी की मांग एक तरह से खारिज कर दी

नई दिल्लीः हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशल लि. (एचपीसीएल) ने नए बहुलांश शेयरधारक होने के नाते प्रवर्तक के रूप में ओएनजीसी को मान्यता देने के संदर्भ में कहा है कि वह सांविधिक व्यवस्था की अपनी समझ के आधार पर काम कर रही है।

इसके साथ एचपीसीएल ने ओएनजीसी की मांग एक तरह से खारिज कर दी है। एचपीसीएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश कुमार सुराना ने कहा, ‘‘हम जो कुछ भी कह कर रहे हैं, हमने जो कुछ भी किया है।

और हम जो कुछ करेंगे, वह सांविधिक व्यवस्था की समझ, दिशानिर्देश तथा कंपनी कानून एवं सेबी दिशानिर्देश के अनुरूप है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उसके बाद कोई क्या विश्लेषण कर रहा है, यह स्थिति के बारे में उसकी समझ है। हमें उस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है।’’

ओएनजीसी ने एचपीसीएल प्रबंधन को पत्र लिखकर दी गई सूचना को दुरूस्त करने को लेकर कदम उठाने को कहा है ताकि कंपनी के वास्तविक प्रवर्तक का नाम प्रतिबिंबित हो।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सांविधिक व्यवस्था की अपनी समझ के आधार पर काम कर रहे : एचपीसीएल
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags