छत्तीसगढ़

संकुल केंद्र टांगा पानी में सीख कार्यक्रम की कार्यशाला आयोजित

वॉलिंटियर्स की भूमिका गांव के ही पढ़े-लिखे युवक युवतियां बनकर पढ़ाई करा रहे हैं

राज शेखर नायर

नगरी। कोरोना वायरस के चलते बच्चों की शिक्षा में भारी गिरावट आई है बच्चों का ध्यान पढ़ाई से न भटक जाए इसलिए संकुल केंद्र टांगा पानी में शिक्षक एवं वालंटियर की कार्यशाला आयोजित की जिसमें वॉलिंटियर्स की भूमिका गांव के ही पढ़े-लिखे युवक युवतियां बनकर पढ़ाई करा रहे हैं

बच्चों को चित्र लेखन गीत खेल विधि द्वारा शिक्षा दे रहे हैं विकास भदोरिया के द्वारा सीख कार्यक्रम के लिए वीडियो खेल खेल में शिक्षा का पीडीएफ प्रति सोमवार बुधवार और शनिवार को भेजा जाता है जिसे संकुल समन्वयक द्वारा वालंटियर एवं शिक्षक को भेजा जाता है जिसका सफल संचालन वालंटियर एवं शिक्षक द्वारा प्रतिदिन किया जाता है

वॉलिंटियर्स एवं शिक्षक को सीख कार्यक्रम के उद्देश्य अवधारणा एवं पालक की भूमिका को संकुल समन्वयक जसपाल खनूजा द्वारा विस्तृत रूप से बताया गया तत्पश्चात आर्यन सर अजीम प्रेमजी फाउंडेशन द्वारा हिंदी भाषा को रोचक ढंग से पढ़ाने हेतु बहुत से टिप्स दिए गए एवं गणित भाषा अमूर्त से मूर्त रूप में कई उदाहरण देते हुए समझाया गया जिसमे हाई स्कूल के व्याख्याता भागवत दास बैरागी प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक शिक्षक दिलेश कुमार देवांगन खेमचंद पाटले पुष्पेंद्र साहू एवं शिक्षक एवं वॉलिंटियर उपस्थित थे

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button