ऊर्जा दक्षता-मांग प्रबंधन पर हुई कार्यशाला

रायपुर : छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर वितरण कंपनी के गुढिय़ारी स्थित केन्द्रीय प्रशिक्षण संस्थान में ऊर्जा दक्षता तथा मांग प्रबंधन (डिमांड साइट मैनेजमेंट और इनर्जी एफीसियेंसी) पर तीन दिवसीय कार्यशाला हुई । यह कार्यशाला शनिवार को क्रेडा और वितरण कंपनी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित की गई। कार्यशाला में नई दिल्ली के प्रतिनिधि राहुल तथा के्रडा सदस्यों ने पॉवर कंपनी के अधिकारियों को डिमांड साइड मैनेजमेंट तथा ऊर्जा संरक्षण विषयों पर जानकारी दी। कार्यशाला को छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कंपनी के निदेशक हेमराज नरवरे ने एलईडी बल्ब के उपयोग को ऊर्जा संरक्षण के लिए अत्यधिक कारगर बताया। उन्होंने कहा कि वितरण केन्द्र स्तर पर 9 वॉट का एलईडी बल्ब तथा 100 वॉट का सामान्य बल्ब की खपत को इनर्जी मीटर के माध्यम से रीडिंग कर दोनों बल्ब की खपत के अंतर को उपभोक्ताओं के सामने समझाया। इसके अलावा उन्होंने उपभोक्ताओं को भी ऊर्जा संरक्षण के लिए जागरूक करने मैदानी अधिकारियों को लगातार प्रयासरत रहने पर जोर दिया। उपभोक्ताओं को व्यवहारिक रूप से यह जानकारी मिल सके कि एलईडी बल्ब की बिजली खपत सामान्य बल्ब से कम होती है। इस अवसर पर वितरण कंपनी के प्रशिक्षक कार्यपालन अभियंता विश्वास और केन्द्रीय प्रशिक्षण संस्थान के मुख्य अभियंता आरबी त्रिपाठी सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Back to top button