छत्तीसगढ़

बच्चों के मानसिक विकास पर शिक्षकों का प्रभाव विषय पर कार्यशाला संपन्न

रायपुर: छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा आज शासकीय शिक्षक शिक्षा महाविद्यालय, रायपुर में ‘बच्चों के मानसिक विकास पर शिक्षकों का प्रभाव’ विषय पर उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला में महाविद्यालय के एम.एड. एवं बी.एड. के प्रशिक्षार्थियों को सम्बोधित करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने कहा कि शिक्षकों के धैर्य और संतुलन का गहरा प्रभाव बच्चों पर पड़ता है, बच्चों के व्यवहार को पढ़ना सीखेंगे तो उन्हें गढ़ना स्वयं सीख जाएंगे।

कार्यशाला में आयोग के सचिव प्रतीक खरे ने बाल अधिकारों के संबंध में चर्चा की और शिक्षकों के व्यवहार का बच्चों के मानसिक विकास पर पड़ने वाले प्रभाव पर अपने विचार रखे। इसके साथ आयोग के सदस्य अरविंद जैन, सुश्री टी.आर. श्यामा और महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. योगेश शिवहरे ने कार्यशाला को सम्बोधित किया।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: