विश्व तम्बाकू निषेध दिवस 31 मई पर विशेष: यमराज निकलेंगे चित्रगुप्त के साथ, पढ़ाएंगे तंबाकू निषेध का पाठ

राजशेखर नायर

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर ज़िला तंबाकू निषेध प्रकोष्ठ के द्वारा तंबाकू उत्पाद और उसके सेवन से होने वाले नुकसान के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ तंबाकू मुक्ति का अभियान चलाया जाएगा । जिससे आने वाले समय में लोगों को तंबाकू से होने वाली हानिकारक बीमारियों से समय रहते सचेत किया जाए और बचाया जा सके ।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर आयोजित होने वाली गतिविधियों को जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मीरा बघेल के नेतृत्व में और जिला कार्यक्रम प्रबंधक मनीष मेजरवार के मार्गदर्शन में किया जाएगा । कार्यक्रम को सफल बनाने में सोशल वर्कर नेहा सोनी और अजय बैस का सहयोग रहेगा ।

ज़िला तंबाकू निषेध प्रकोष्ठ की ज़िला सलाहकार डॉ. सृष्टि यदु ने बताया ‘’तंबाकू निषेध दिवस पर इस बार की थीम ‘commit to quit’ है, जिसके माध्यम से लोगों को तंबाकू छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा। तंबाकू निषेध दिवस के मौके पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर इससे बचाव की जानकारी दी जाएगी। जनजागरुकता हेतु अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर के बाहर प्रेरक बैनर-पोस्टर लगाए जाएंगे।‘’

‘’इस बार विशेष कैरेक्टर के रुप में यमराज चित्रगुप्त के साथ निकलेंगे और शहर के मुख्य चौराहों पर तंबाकू सेवन से होने वाले खतरे के पाठ को पढ़ाएंगे साथ ही नशा मुक्ति के संचालित केंद्र की जानकारी भी लोगों को बतायेगें ।“

“ई रिक्शा पर जागरुकता रथ निकाला जायेगा । रथ के माध्यम से लोगों में जन जागरूकता फैलाने के लिए तंबाकू निषेध से जुड़े संदेशों और नारों को प्रचारित किया जाएगा । जिसमें धूम्रपान,तंबाकू सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में बताया जाएगा । वेबीनार के माध्यम से नशा मुक्ति पर परिचर्चा आयोजित होगी । 18 जून तक नशा मुक्ति सहमति पत्र भरवाने वाले लोगों को पुरस्कृत भी किया जाएगा । मास्क और पंपलेट का वितरण भी चौक-चौराहों पर किया जाएगा । मुख्य स्थानों पर प्रेरक पोस्टर प्रदर्शित कर जागरूक करने का काम भी किया जायेगा ।

सीएमएचओ कार्यालय के बाहर भी तंबाकू निषेध और तंबाकू से होने वाली हानियां के बैनर को प्रदर्शित कर लोगों को जागरूक किया जाएगा ।“

डॉ. यदु ने कहा तंबाकू सेवन पर नियंत्रण के लिए जिले में विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर भी जिले के सभी विकासखंडों में कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए जनजागरूकता का प्रयास किया जाएगा। प्रेरक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। लोगों को तंबाकू का सेवन करने तथा धूम्रपान से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी दी जाएगी। गतिविधियों की सार्थकता के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा।‘’

क्या होता है तंबाकू सेवन से….

शरीर के विभिन्न अंग जैसे- मुंह, गला, आहार नली, फेफड़ा, आमाशय, लीवर, किडनी व मस्तिष्क आदि के खराब होने का खतरा रहता है। साथ ही तंबाकू के सेवन से कैंसर, मानसिक रोग व नपुंसकता जैसी गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं।

क्या कहती है सर्वे रिपोर्ट…

ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे 2016-17 के अनुसार छत्तीसगढ़ में 39.1 प्रतिशत लोग किसी न किसी प्रकार से तंबाकू का सेवन करते हैं। यह देश की औसत 28.4 प्रतिशत से अधिक है। इसमें से 7 प्रतिशत लोग ऐसे थे जिन्होंने 15 वर्ष की उम्र से पहले ही तंबाकू का सेवन शुरू किया था। 29 प्रतिशत ने 15-17 वर्ष की उम्र से और 35.4 प्रतिशत ने 18-19 वर्ष में सेवन शुरू किया। यानी औसतन 18.5 वर्ष की आयु में तंबाकू का सेवन शुरू किया था।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button