घायल बंदर ने राष्‍ट्रपति भवन में ली शरण, डॉक्‍टर कर रहे इलाज

बुरी तरह घायल एक बंदर शनिवार को राष्ट्रपति भवन के एक सभागार में जाकर छिप गया। वहां से निकालकर उसे डॉक्टर के पास ले जाया गया। राष्ट्रपति भवन के कर्मचारी ने जब बंदर को एक मीटिंग हॉल में छिपा देखा, तो उसने वाइल्ड लाइफ एसओएस को सूचना दी। काफी मशक्कत से बंदर को पकड़ा गया और उपचार के लिए उसे डॉक्टर के पास ले जाया गया।

वाइल्ड लाइफ एसओएस के सह-संस्थापक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी कार्तिक सत्यनारायण ने कहा कि बंदर को किसी इंसान ने घायल किया। अपने बचाव के लिए बंदर राष्ट्रपति भवन चला आया। उन्होंने बताया, “बंदर को हमारी टीम के दो सदस्यों ने बहुत सावधानी से पकड़ा, ताकि पीड़ित जीव को ज्यादा कष्ट न हो। उसकी देखभाल की जा रही है, स्वस्थ होने पर उसे छोड़ दिया जाएगा।”

राष्ट्रपति भवन का दीदार करने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने न्योता भेजा था। कोविंद ने ट्वीट कर लिखा था, ‘अगली बार यदि आप दिल्ली में हैं, तो मैं आपको राष्ट्रपति भवन घूमने के लिए आमंत्रित करता हूं। ये दुनिया भर में फैले भारतीयों के लिए है।’

राष्ट्रपति भवन रायसीना हिल्‍स से घिरा हुआ है। 340 कमरों वाली ये ऐतिहासिक इमारत दुनिया के राष्ट्राध्यक्षों को मिले आवास में सबसे बड़ा है। इसकी भव्यता और नक्काशी सैलानियों को बरबस ही अपनी ओर खींच लेती है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी इस इमारत के दरवाजे आम लोगों के लिए खोले थे। यहां पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये। राष्ट्रपति भवन को पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने भी जनता के लिए सुलभ बनाया था। उनके कार्यकाल में बच्चे उनसे मिलने यहां अक्सर आते रहते थे।

‘देश में नौकरियां कम होना अच्‍छा संकेत’, पीयूष गोयल के इस बयान से राहुल गांधी दुखी
राष्ट्रपति भवन स्थित मुगल गार्डन दुनिया के बेहतरीन उद्यानों में से हैं। यहां पर गुलाब की कई किस्में पाई जाती हैं। मुगल गार्डन हर साल फरवरी माह में लगभग एक महीने के लिए खुलता है।

Back to top button