100 दिन से छूरा शासकीय अस्पताल में एक्सरा सुविधा ठप्प

हितेश दीक्षित:

छूरा: विकासखण्ड छूरा के शासकीय अस्पताल का विकास दिनों दिन बत्तर होता हुआ नजर आ रहा है। अस्पताल में पूरे ग्रामीण अंचल से इलाज करवाने के लिए आते हैं मगर यह अस्पताल आज भी मरीजों के लिए सुरक्षित नही है क्योंकि बरसात के मौसम शुरू होते ही छत में पानी की निकासी सफलतापूर्वक नही होने के कारण पूरे दीवारों में सीपेज आ जाता है।

कमीशन खोर रासखुर्दरो के मनमानी के कारण आज शासकीय अस्पताल की विकास से विनाश की ओर जा रहा है। अस्पताल परिसर के लगभग सभी दीवारों में सीपेज रहता है इस कारण भर्ती मरीज अपनी जान जोखिम में डालकर यहाँ अपना इलाज करवाते हैं।

इस मामले को कुछ समय पहले प्रमुखता से उठाया था मगर अभी तक कोई पहल नही हुआ है जिसके कारण हालात जस का तस है। मात्र खबर चलने के बाद निर्माण के लिए जिम्मेदार अधिकारी लोक निर्माण विभाग के देखने बस आये मगर कुछ भी मरम्मत अभी तक नही हुआ।

इसी तरह आज शासकीय अस्पताल में एक्सरा की सुविधा तो सालो से है मगर यहां लगभग 100 दिन से एक्सरा सुविधा बंद पड़ी है। शनिवार को जब रवेली निवासी रुपेश सेन एक्सरा करवाने के लिए गया तो वहाँ पर एक्सरा नही हो रहा था।

अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के कारण मरीज अपनी गाढ़ी कमाई नीजि अस्पतालों में दे रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन के अनुसार एक्सरा कर्मचारी महिला है और वह गर्भावस्था में होने के कारण पिछले कुछ माह से छुट्टी में है मगर अभी तक अस्पताल में उसकी जगह कोई दूसरा नही आया है।

मरीजों को लेना पड़ता है बाहर से दवाइयाँ

यहां पर कोई भी मरीज आता है उसको कुछ न कुछ दवाइयां बाहर से लेनी पड़ती है। आज यहाँ आने वाले मरीज तबियत ठीक करने के लिए आते है मगर यहाँ पर खुद अस्पताल बीमार नजर आता है जिसके कारण मरीजो को जरूरी सुविधा नही मिल पाती है।

पूरे अस्पताल परिसर के आस पास गंदगी पसरी रहती है, बाथरूम में साफ सफाई के अभाव में असहनीय बदबू होती रहती है, जिससे मरीज और अधिक बीमार हो जाये। ग्रामीण अंचल के मरीज ज्यादातर निजी अस्पतालों में नजर आते हैं।

क्योंकि इस अस्पताल में जिस उम्मीद से आते हैं यहाँ पर ये अस्पताल खरा नही उतर पा रही है। आज भी कई गांवों में झोलाछाप डॉ अपनी जेबें भर रहे हैं और मरीज भी उनसे संतुष्ट हैं क्योंकि शासकीय अस्पताल में जो दवाइयां बमुश्किल उपलब्ध रहती है वह दवाइयां झोलाछाप के पास तुरंत मिल जाती हैं।

कुछ दिनों से एक्सरा सेवा बन्द है। क्योंकि एक्सरा कर्मचारी महिला मेडिकल छुट्टी में है, वो गर्भावस्था में है हमने जिले के अधिकारी को इस अस्पताल की अव्यवस्था से अवगत करा दिया है। अब वो जब भी भेजे उनकी मर्जी और रही बात दिवालो की मरम्मत की तो उसका अबतक पता नही हालात जस का तस है। जी एल टंडन ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर : छुरा

Back to top button