योग दिवस पर YMS यूथ फाउंडेशन रायपुर का महाअभियान, स्कूल में हो योग अनिवार्य

जरूरतमंत बेरोजगार युवकों को बनाया जाएगा प्रोफेशनल योग ट्रेनर, कोर्स का खर्च वहन करेगा YMS यूथ फाउंडेशन

रायपुर । करोना कि पहली और दूसरी लहर ने हमें यह बता सिखा दी है कि इंसानी शरीर में इम्यूनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) की क्या जरूरत है और इम्यूनिटी का क्या महत्व है। आयुर्वेद और आधुनिक चिकित्सा पद्धति के सभी एक्सपर्ट मानते हैं कि योगा की मदद से हम अपने शरीर की इम्युनिटी यानी की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इसीलिए इस योग दिवस YMS यूथ फाउंडेशन छत्तीसगढ़ के युवाओं और आम नागरिकों की इम्युनिटी के लिए एक विशेष अभियान का आरंभ करने जा रहा है।

योग से मिले बच्चों को सेहत
YMS यूथ फाउंडेशन के इस अभियान के तहत प्रदेश के सभी स्कूलों में योग को अनिवार्य करने की मांग की जा रही है। साथ ही साथ जरूरतमंद युवाओं को योग प्रशिक्षक बनाकर उन्हें सीधे रोजगार से जोड़ने का कार्य किया जाएगा। संस्था के अध्यक्ष बॉबी होरा जी और सचिव अमित जैन जी ने बताया कि योग का महत्व अब पूरी दुनिया समझने लगी है। योग आम आदमी की जिंदगी में सांस लेने जैसे जरूरी काम की तरह जुड़ जाए ताकि फिर कभी कोरोनावायरस संक्रमण जैसी कोई बीमारी कमजोर रोज प्रतिरोधक क्षमता की वजह से हमारे अपनों को छीनने का दुस्साह न करे। इसलिए हम अब प्रदेश के स्कूलों में योग को अनिवार्य करने की मांग कर रहे हैं।

योग से रोजगार भी
YMS यूथ फाउंडेशन के संस्थापक सदस्य महेंद्र सिंह होरा, ने बताया कि YMS यूथ फाउंडेशन योग दिवस के अवसर पर अपना एक दूसरा बड़ा अभियान भी शुरू कर रहा है। जिसका मकसद है योग के जरिए प्रदेश के युवाओं को रोजगार से सीधे तौर पर जोड़ना। इस अभियान के जरिए आर्थिक रूप से कमजोर 10 युवकों को योग प्रशिक्षक की प्रोफेशनल ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग के दौरान आने वाले YMS यूथ फाउंडेशन वहन करेगा। इस ट्रेनिंग से जुड़ने के लिए संस्था के जाॅइंट सेकेट्ररी रुपेश दुबे जी से 9993049712 और संस्था के सदस्य अशोक श्रीवास्तव जी से 9926102120 नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।

YMS यूथ फाउंडेशन रायपुर निभा रहा अपनी जिम्मेदारी
YMS यूथ फाउंडेशन के वाइस प्रेसीडेंट डॉ युसूफ मेमन, संस्था के सिद्धार्थ पारख, आशिष तिवारी जी ने बताया कि यह संस्था रायपुर का एक मात्र ऐसा समूह है जो योग, म्यूजिक और स्पोर्ट्स की तरफ युवाओं को केंद्रित करने का काम कर रहा है। कोरोना की पहली लहर में श्रमिकों से लेकर बेजुबान जानवरों तक के भोजन का प्रबंध किया गया ।श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। दूसरी लहर के वक्त जब पूरे प्रदेश में लोग सिटी स्कैन को लेकर परेशान थे संस्था ने महज ₹500 में लोगों को सीटी स्कैन कराने की सुविधा दी जिसका सैकड़ों लोगों ने लाभ लिया। अब योग दिवस के इस मौके पर YMS यूथ फाउंडेशन ने अपने अभियान के साथ जन सरोकार के प्रति अपने दायित्वों को निभाने का प्रयास शुरू किया है जिससे प्रदेश के हर घर में बच्चों और बड़ों की इम्यूनिटी बेहतर हो और जरूरतमंद युवाओं को योग ट्रेनर के रूप में रोजगार मिले।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button