2022 में फिर CM होंगे योगी आदित्यनाथ,52 फीसदी की पहली पसंद

चुनाव से पहले सर्वे का नतीजा

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा (up assembly election 2022) चुनाव होने हैं. यूपी के चुनाव पर पूरे देश की निगाह रहती है. इस कारण ये चुनाव और भी खास हो जाता है. पश्चिम बंगाल में हार के बाद बीजेपी के लिए इस बार का चुनाव वैसे भी हर मायने में खास है. वहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के लिए एक सुखद खबर सामने आई है. आईएएनएस-सी वोटर (IANS-C Voter) स्नैप पोल के अनुसार राज्य के 52 प्रतिशत लोग मानते हैं कि 2022 में योगी यूपी चुनाव जीतेंगे. हालांकि टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक 37 फीसदी लोगों का ये भी मानना है कि योगी यूपी विधानसभा चुनाव नहीं जीत पाएंगे.

2017 में बीजेपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में बड़ी जीत हांसिल की थी. बीजेपी ने 312 सीटें जीती थी. जबकि सपा 47, बसपा 19 और कांग्रेस केवल 7 ही सीट जीत पाई थी. राज्य में बीजेपी की सरकार बनने के बाद योगी आदित्यनाथ को सत्ता की कमान सौंपी गई थी. जिला परिषद चुनाव में हुई जीत राज्य में बीजेपी ने हाल ही में हुए जिला परिषद चुनाव में बड़ी जीत प्राप्त की है. उत्तर प्रदेश के जिला पंचायत चुनाव में बीजेपी ने 75 में से 65 सीटें हांसिल कर शानदार जीत दर्ज की है.

पीएम ने दी थी जीत की बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश के जिला पंचायत चुनावों में बीजेपी की प्रचंड जीत जनता जनार्दन का विकास, जनसेवा और कानून के शासन का आशीर्वाद है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि, उत्तर प्रदेश जिला पंचायत चुनाव में बीजेपी की शानदार जीत, विकास, लोक सेवा और कानून के शासन के लिए जनता जनार्दन का आशीर्वाद है. इसका श्रेय मुख्यमंत्री योगी जी की नीतियों और पार्टी कार्यकर्ताओं की अथक मेहनत को जाता है. इसके लिए यूपी सरकार और बीजेपी संगठन को हार्दिक बधाई.

46 प्रतिशत लोगों का कहना मंत्रिमंडल फेरबदल से होगा बदलाव

IANS-C Voter पोल के अनुसार जब लोगों से पूछा गया कि मंडिमंडल में बदलाव से देश में क्या सुधार होगा. जिसको लेकर 46 प्रतिशत लोगों का मानना है कि मंत्रिमंडल में फेरबदल होने से देश में जरूर बदलाव आएगा. वहीं 41 प्रतिशत लोगों को ऐसी कोई उम्मीद नहीं है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button